बाराबंकी : अयोध्या जिले की सीमा पर स्थित तहसील रामसनेहीघाट के सभी कार्यालयों में सुबह कार्यालय खुलते ही लोगों में अयोध्या मुद्दे पर आए फैसले की चर्चा देखी गई। लोग सुप्रीमकोर्ट के फैसले की सराहना करते दिखे। तहसील में वकालत कर रहे विक्रम सिंह ने कहा कि इस फैसले से न किसी की जीत है न किसी की हार है। इस ऐतिहासिक फैसले में दोनों पक्षों का ध्यान रखा गया है। स्टांप वेंडर जय प्रकाश ने कहा कि अब दोनों धर्मों को अपने मजहब के हिसाब से मंदिर व मस्जिद बनाने का अवसर मिला है। सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में कार्यरत अजय शुक्ल ने फैसले को राजनीति से हटकर बताया। उन्होंने कहा कि अब कोई भी पार्टी इस पर राजनीति नहीं कर पाएगी। तहसील आए भुड़हरी निवासी इस्तिखार हुसैन ने बताया कि फैसला बहुत बढि़या है, अभी तक लोग मंदिर-मस्जिद पर राजनीति करते थे, अब विकास की राजनीति करें तो देश का विकास होगा।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप