जागरण संवाददाता, बांदा : सिमौनीधाम स्थित स्वामी अवधूत महाराज आश्रम में तीन दिवसीय भव्य मेले की शुरुआत रविवार को भंडारे के साथ हुई। स्वामी अवधूत महाराज ने संतों को माल पुआ का प्रसाद देकर भंडारे व मेले का शुभारंभ किया। इस दौरान केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ.हर्षवर्धन ने स्वामी जी के दर्शन कर उनसे आशीर्वाद लिया। मेले में पहले दिन हजारों की संख्या में भंडारे का प्रसाद चखा।

सिमौनीधाम मेला की प्रशासन स्तर पर कई दिनों से तैयारियां चल रही थीं। मेला परिसर से लेकर आश्रम तक सब जगह बिजली, पानी, सड़क आदि के बेहतर इंतजाम किए गए हैं। मेला परिसर में हथकरघा व वास्तु शिल्प सहित करीब एक हजार दुकानें दूर-दराज से आए व्यापारियों ने सजाई हैं। यहां घरेलू उपयोग की चीजों सहित खिलौने आदि की दुकानें लगी हैं। रविवार को मेले के पहले दिन क्षेत्रीय गांवों के साथ दूर-दराज से हजारों की संख्या में भक्त स्वामी अवधूत महाराज के दर्शन व उनसे आशीर्वाद लेने आए। स्वामी जी ने मधुवन में ठहरे साधु-संतों को अपने हाथों से प्रसाद देकर भंडारे का शुभारंभ किया। इस दौरान प्रसाद में मालपुआ, पूड़ी, जलेबी आदि चखा। मेले में ठहरे साधु-संतों को मधुबन में ठहराया गया है। यहां पूरी रात चिमटे की धुन पर साधुओं के भजन गूंजते रहे। सुबह चार बजे से साधुओं ने चिलम की धूनी रमा अलख निरंजन के जयघोष लगाते रहे। केंद्र सरकार के स्वास्थ्य मंत्री ने स्वामी के आश्रम पहुंचकर यहां स्वामी जी के दर्शन कर उनसे आशीर्वाद लिया। मेला में लगी दुकानों व स्टाल का निरीक्षण किया। इस दौराम स्वयं सहायता समूह की महिलाओं ने हस्तनिर्मित उत्पाद के स्टाल लगाए हैं। इनमें खरीदारों की भीड़ उमड़ रही है। दोपहर में मेला परिसर में खेलकूद प्रतियोगिता होगी। पहले दिन प्रदेश सरकार के धर्मार्थ कल्याण मंत्री नीलकंठ तिवारी, राज्यसभा सांसद विशंभर प्रसाद निषाद सहित विधायक और राजनीतिक दलों के नेता सिमौनी मेले में पहुंचे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस