संवाद सहयोगी, अतर्रा : घर के बाहर खेलते समय लापता पांच साल के मासूम का अभी तक कोई सुराग नहीं लगा है। बागै नदी में भी तलाश बंद करा दी गई है। तीसरे दिन खोजी कुत्ते के साथ डाग स्क्वायड टीम पहुंची और कई घरों में संदेह के आधार पर जांच की गई। स्वजन ने अगवा का अंदेशा जताया था, जिसके बाद हिरासत में लिए गए दंपती से पूछताछ की जा रही है। हालांकि अभी तक कोई महत्वपूर्ण जानकारी पुलिस के हाथ नहीं लगी है।

बिसंडा थाना की सिंहपुर चौकी क्षेत्र के केवटन पुरवा निवासी राजकरण का पांच वर्षीय पुत्र आशीष घर के बाहर खेलते समय गुरुवार की शाम लापता हो गया था। देर शाम स्वजन द्वारा खोजबीन के बाद आशीष नहीं मिला। तब बच्चे के चाचा पुलिस चौकी पहुंचे और गुमशुदगी की तहरीर दी थी। जिस पर पुलिस ने गांव में खोजबीन के साथ ही पास ही बहने वाली बागै नदी में भी सात गोताखोरों की मदद से तलाशने का प्रयास किया था, लेकिन सफलता न मिलने पर तीसरे दिन पुलिस ने नदी में तलाश बंद कर अन्य पहलुओं पर खोजबीन शुरू की।

--------

संदेह के आधार पर कई घरों में घुमाया खोजी कुत्ता दानिश

शनिवार को जिला मुख्यालय से दो सदस्यीय डाग स्क्वायड टीम भी गांव पहुंची। टीम के सदस्य दुर्गेश ने खोजी कुत्ते दानिश को लेकर घर पहुंची। जहां से खेलने वाले स्थान प्राथमिक विद्यालय समेत गांव में विभिन्न जगह तलाश में जुटी रही। चार दिन पहले पड़ोसी से विवाद होने पर देख लेने की मिली धमकी के मद्देनजर अगवा किए जाने की आशंका स्वजन ने जताई थी। जिसके बाद हिरासत में लेते हुए पुलिस अभी भी पड़ोसी दंपती से पूछताछ में जुटी हुई है।

-------------------------

पुलिस की जांच से स्वजन नहीं संतुष्ट

स्वजन पुलिस की कार्यप्रणाली से संतुष्ट नहीं हैं। बच्चे के चाचा रामसिया का कहना है कि आशीष गुम नहीं हुआ है, बल्कि उसका अपहरण किया गया है। डाग स्क्वायड टीम आने के बाद पुलिस से घर घर तलाशी लेने की बात कही गई, लेकिन हमारी बात को अनसुना कर दिया गया है।

-------------------------

स्वजन का रो रोकर बुरा हाल, सूचना पर परदेस से चला पिता

इकलौते पुत्र आशीष का 48 घंटे से ज्यादा समय गुजरने के बाद जानकारी न होने पर मां सुमित्रा बेहाल हैं। बच्चे के गुम होने की जानकारी पाकर रोजी रोटी कमाने परदेश गए पिता राजकरण भी अहमदाबाद से घर के लिए चल दिए हैं।

---------------------

सभी बिदुओं को ध्यान में रख गुम बच्चे की खोजबीन की जा रही है। शीघ्र ही बच्चे को बरामद किया जाएगा।

--सियाराम सीओ बबेरू

Edited By: Jagran