संवाद सूत्र, कमासिन : महिला कांस्टेबल नीतू शुक्ला की मौत के मामले की गुत्थी सुलझने का नाम नहीं ले रही है। एक ओर जहां परिजन आरोपितों के विरुद्ध कार्यवाही की मांग कर रहे हैं वहीं पुलिस पूरे मामले को आत्महत्या से जोड़कर देख रही है। शनिवार को परिजन थाने पर पहुंचे और कार्रवाई की मांग को लेकर एसआइ समेत अन्य पुलिस कर्मियों को जमकर खरीखोटी सुनाई। वहीं पुलिस अब कॉल डिटेल आने का इंतजार कर रही है। जिसके चलते उनकी अभी चुप्पी नहीं टूट रही है।

कमासिन थाने में तैनात महिला कांस्टेबल नीतू शुक्ला का चार अगस्त की रात क्वार्टर के अंदर संदिग्ध परिस्थितियों में फंदे पर पंखे से शव लटका मिला था। उसके भाई राघवेंद्र समेत एसआइ पिता ने यहां आने के बाद थानाध्यक्ष समेत चार लोगों के विरुद्ध हत्या कराने का आरोप लगाया था। परिजन अभी भी उसकी मौत को खुदकशी करना नहीं मान रहे हैं। परिजनों ने शनिवार को जहां एसपी से मिलकर आरोपियों के विरुद्ध कार्रवाई की मांग की थी। वहीं कमासिन थाने पहुंचकर पुलिस कर्मियों के विरुद्ध जमकर आक्रोश जाहिर किया। इस संबंध में एसआइ अनिरुद्ध ¨सह का कहना था कि मोबाइल की काल डिटेल आने पर मामला पूरी तरह स्पष्ट हो जाएगा। जो भी सच्चाई है दूध का दूध पानी का पानी की तरह सामने आ जाएगी। दो-तीन दिन के अंदर असलियत परिजनों के सामने आ जाएगी।

Posted By: Jagran