जासं, बलरामपुर : विधानसभा चुनाव कराने वाले 5000 मतदान कार्मिकों को प्रथम प्रशिक्षण देने की तैयारी शुरू कर दी गई है। पीठासीन व प्रथम मतदान कार्मिकों को प्रशिक्षण में शामिल किया जाएगा। एमपीपी इंटर कालेज में 31 जनवरी से दो फरवरी तक कार्मिकों को प्रशिक्षित किया जाएगा। दो-दो पालियों में प्रशिक्षण दिया जाएगा। एक पाली में एक हजार पीठसीन व प्रथम मतदान अधिकारियों को वोटिग की बारीकियां बताई जाएगी। प्रशिक्षण से नदारद रहने वाले संबंधित मतदान कार्मिकों के खिलाफ लोक प्रतिनिधित्व अधिनियम के तहत कार्रवाई की जाएगी। डीएम जिला निर्वाचन अधिकारी श्रुति ने बताया कि जिले में छठवें चरण में तीन मार्च को मतदान कराया जाएगा। चारों विधानसभा क्षेत्रों में 1857 पोलिग बूथों पर मतदान प्रक्रिया पूरी कराने वाले सभी कर्मचारियों को प्रशिक्षण देने की तैयारी शुरु कर दी गई है। दो-दो पालियों में प्रशिक्षण दिया जाएगा। प्रथम पाली में प्रात: 10 से दोपहर एक बजे तक कोड संख्या एक से लेकर एक हजार व दूसरी पाली में दोपहर दो से सायं पांच बजे तक कोड संख्या 1001 से 2000 तक शामिल पीठासीन व प्रथम मतदान कार्मिकों को प्रशिक्षित किया जाएगा। एक फरवरी को कोड संख्या 2001 से 3000 तक प्रथम पाली में और कोड संख्या 3001 से 4000 तक दूसरी पाली में प्रशिक्षित किया जाएगा। दो फरवरी को कोड संख्या 4001 से 5000 तक प्रथम पाली में व कोड संख्या 5001 से 50109 तक शामिल कार्मिकों को प्रशिक्षित किया जाएगा। प्रशिक्षण स्थल पर समय से एक घंटा पूर्व उपस्थिति दर्ज कराना होगा। सभी मतदान अधिकारियों को द्वितीय प्रशिक्षण से पूर्व पार्टी संख्या सहित विधानसभावार ड्यूटी आदेश दिया जाएगा। प्रशिक्षण पाने वाले मतदान अधिकारियों को तीन मार्च के दिन प्रात: सात बजे से मतदान की समाप्ति तक ड्यूटी देनी होगी। निर्वाचन कार्य में कोई भी शिथिलता बर्दाश्त नहीं की जाएगी। लोक प्रतिनिधित्व अधिनियम के तहत केस दर्ज कराकर कठोर कार्रवाई की जाएगी। जिन कार्मिकों को कोविड टीकाकरण का द्वितीय डोज लगने के 90 दिन पूरे हो गए हैं वे अपना टीकाकरण का प्रमाण पत्र व निर्वाचन नियुक्ति आदेश दिखा कर प्रशिक्षण स्थल पर टीकाकरण काउंटर पर बूस्टर डोज अवश्य लगवाएं। कोविड प्रोटोकाल का पालन सख्ती से किया जाएगा।

Edited By: Jagran