संवादसूत्र, उतरौला (बलरामपुर) :

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के अवैध टैक्सी स्टैंड संचालन बंद कराने का फरमान के बीच नगर पालिका परिषद की टैक्सी स्टैंड की नीलामी शुक्रवार को मंजूर हो गई। इसी दिन से टोकन से वसूली शुरू कर दी गई है। शासन से स्वीकृति न मिलने के कारण अप्रैल से टैक्सी स्टैंड की वसूली स्थगित थी। नगर में छह स्थानों पर टैक्सी स्टैंड पालिका प्रशासन ने बनाया है। इनके अलावा कोई टैक्सी स्टैंड न संचालित होने का दावा अधिकारी कर रहे हैं।

अधिशासी अधिकारी अवधेश वर्मा ने बताया कि नगर में टैक्सी स्टैंड की वसूली के लिए कुल छह प्वाइंट बनाए गए है जहां से ठेकेदार टोकन की वसूली करता है। इसमें पचपेड़वा मार्ग, तुलसीपुर मार्ग, गोंडा मोड़, बलरामपुर मार्ग, मनकापुर मार्ग, धुसवा मार्ग पर बने टैक्सी स्टैंड शामिल हैं। बताया कि चिन्हित स्थलों के अतिरिक्त अन्य कोई अवैध वसूली के केंद्र नहीं संचालित हैं। पहला दिन है। भविष्य में अवैध टैक्सी स्टैंड संचालित न हो इसके लिए निगरानी की जाएगी।

- प्रमुख राजमार्गों पर निगम की बसें न होने के कारण ई-रिक्शा ही यात्रियों के आवागमन का साधन हैं। गोंडा, बलरामपुर व डुमरियागंज मार्गों पर परिवहन निगम की बसें संचालित हैं। धुसवा, मनकापुर सादुल्लाहनगर, तुलसीपुर व पचपेड़वा मार्ग पर रोडवेज बसों या टैक्सियों का संचालन नहीं होता है। ऐसे में प्रतिदिन हजारों की संख्या में आने जाने वाले यात्रियों को ई-रिक्शा का ही सहारा है। यात्रियों को मजबूरी में इै-रिक्शा से अपनी यात्रा पूरी करनी पढ़ती हैं। प्रभारी निरीक्षक अनिल कुमार सिंह का कहना है कि किसी भी मार्ग पर बिना परमिट की बसें नहीं चल रही है। समय-समय पर अभियान चलाकर बिना परमिट के वाहनों का संचालन मिलने पर उनका चालान कर दिया जाता है। नगर पालिका क्षेत्र में कहीं भी अवैध टैक्सी स्टैंड नहीं संचालित है।

Edited By: Jagran