खिलाड़ियों को नहीं थी जानकारी...और हो गया ‘खेल’

बलरामपुर: युवा कल्याण एवं प्रादेशिक विकास दल विभाग की ओर से ब्लाक स्तरीय ग्रामीण खेलकूद प्रतियोगिता का आयोजन मोहनलाल रामलाल इंटर कालेज, शिवपुरा के खेल मैदान पर हुआ। उतरौला के एमवाई उस्मानी इंटर कालेज उतरौला में प्रतियोगिता कराई गई। युवा कल्याण विभाग ने कोरम पूरा कर खेल करा दिया। वजह, ब्लाक के अधिकांश विद्यालयों के खिलाड़ियों को प्रतियोगिता की जानकारी तक नहीं हो सकी। प्रशिक्षक व अभ्यास के बिना ही खिलाड़ियों ने अपने हुनर का प्रदर्शन किया। रस्म अदायगी के बीच प्रतियोगिता कराकर विभागीय अधिकारियों ने अपनी पीठ थपथपा ली। -हर्रैया सतघरवा ब्लाक में बालक व बालिकाओं ने 100 मीटर, 400 मीटर दौड़, लंबी कूद, ऊंची कूद, गोला फेंक, कबड्डी व वालीबाल प्रतियोगिता में प्रतिभाग किया। प्रथम, द्वितीय व तृतीय स्थान प्राप्त करने वाले खिलाड़ियों को प्रमाण पत्र व पुरस्कार देकर सम्मानित किया गया। जिला पंचायत अध्यक्ष आरती तिवारी व प्रतिनिधि श्याम मनोहर तिवारी ने खिलाड़ियों का उत्साहवर्द्धन किया। ब्लाक प्रमुख प्रतिनिधि सुरेंद्र सिंह नामे, ब्लाक कमांडर धर्मानंद मिश्रा, ठाकुर प्रसाद पांडेय व क्षेत्रीय युवा कल्याण अधिकारी श्वेता सिंह मौजूद रहीं। ऐसे हो रहा खेल में खेल : सभी नौ विकास खंडों में ब्लाक स्तरीय प्रतियोगिता होनी है। चयनित खिलाड़ियों को जिला स्तर पर मौका मिलेगा। गैंड़ासबुजुर्ग, रेहराबाजार, श्रीदत्तगंज, तुलसीपुर, गैंसड़ी, हर्रैया सतघरवा, पचपेड़वा व सदर ब्लाक में आयोजन की तिथि निर्धारित है। खिलाड़ियों को आयोजन के एक दिन पहले मौखिक रूप से एथलेटिक्स के लिए तैयार रहने का निर्देश देकर खेल किया जाता है। आयोजन समिति के एक कर्मचारी ने बताया कि एक ब्लाक में खेलकूद कराने में अधिकतम पांच से सात हजार का खर्च आता है। कितना बजट निर्धारित है, इसके बारे में विभाग से कोई सूचना नहीं दी गई है। दो जिलों का है प्रभार : जिला युवा कल्याण अधिकारी प्रदीप कुमार त्रिपाठी ने बताया कि खेलकूद प्रतियोगिता 10 अगस्त से शुरू हो गई है। सदर, रेहराबाजार, उतरौला व हर्रैया सतघरवा ब्लाक की प्रतियोगिता हो गई। उनके पास बलरामपुर व गोंडा दो जिलों का प्रभार है। जो बजट मिलता है, वह प्रतिभागियों, अतिथियों का सूक्ष्म जलपान, प्रचार सामग्री, पुरस्कार, प्रमाण पत्र, रजिस्ट्रेशन व स्टेशनरी पर खर्च किया जाता है।

Edited By: Jagran