बलरामपुर : मौसम का मिजाज बदलते ही यातायात पुलिस व सहायक संभागीय विभाग के दावों की हवा निकल गई। यूं तो सड़क सुरक्षा माह मनाकर कागजों में कवायद की जा रही है, लेकिन कोहरे के कारण सड़क हादसे थमने का नाम नहीं ले रहे हैं। इसकी मुख्य वजह वाहनों पर रिफ्लेक्टर व सड़क किनारे डेलीनेटर का न होना है। सड़कों पर ओवरलोड वाहनों का दबाव अधिक है। ऐसे में रिफ्लेक्टर व रेडियम का अभाव अनहोनी का सबब बन रहा है। सड़क सुरक्षा माह के दौरान भले ही वाहन चालकों को जागरूक करने की कवायद चल रही है, लेकिन इसका कोई असर नहीं है। आमजन अपनी जान की परवाह किए बगैर बिना हेल्मेट व सीट बेल्ट के सड़कों पर फर्राटा भर रहे हैं।

कुछ ऐसा दिखा नजारा :

- रविवार सुबह करीब 11 बजे का वक्त। नगर के वीर विनय चौराहा पर स्कूटी सवार किशोरी बिना हेलमेट के ट्रैफिक पुलिस की निगाहों के सामने से गुजरती है। स्कूटी भारी होने के कारण रोकने पर वह अनियंत्रित होकर गिरते-गिरते बचती है। उसे रोकने के बजाए ट्रैफिक सिपाही अनदेखा कर देते हैं। 500 रुपये का जुर्माना बनता था। यदि रोककर जुर्माना वसूल किया जाता, तो शायद आगे से ट्रैफिक नियम तोड़ने की भूल न करती। इसी तरह तुलसीपुर मार्ग पर पिकअप के डाला पर बच्चे व नवयुवक लटके नजर आए। जरा सा झटका लगने पर अनहोनी की आशंका से इन्कार नहीं किया जा सकता, लेकिन कानून के सिपाहियों को यह नहीं दिखता। यह नजारे तो महज बानगी भर हैं। शहर से लेकर गांव तक वाहन चालक बेखौफ होकर यातायात नियमों की धज्जियां उड़ा रहे हैं। ट्रैफिक नियम तोड़ने पर जुर्माने में पहले से पांच गुना बढ़ोतरी हुई है, लेकिन जिले के आला अधिकारी इसे लेकर संजीदा नहीं हैं।

नियम तोड़ने पर होगी कार्रवाई :

- एएसपी अरविद मिश्र का कहना है कि यातायात नियमों का पालन न करने वालों के खिलाफ कार्रवाई की जाती है। सड़क सुरक्षा माह के दौरान आमजन को नियमों का पालन करने के लिए जागरूक किया जा रहा है। ट्रैफिक नियम तोड़ने वालों के खिलाफ जुर्माना का निर्देश दिया गया है।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021