बलरामपुर :

कोरोना महामारी की संवेदनशीलता को देखते हुए इस बार विजयदशमी पर रावण का पुतला दहन नहीं किया जाएगा। इस बार रामलीला पंडालों में ही मंचन के दौरान मर्यादा पुरुषोत्तम श्रीराम के हाथों रावण का वधन होगा।

श्री सनातन धर्मसभा के मंत्री संजय शर्मा ने बताया कि प्रत्येक वर्ष बड़ा परेड ग्राउंड पर रावण, कुंभकर्ण व मेघनाथ के विशाल पुतलों का दहन करने की परंपरा रही है। रावण दहन स्थल पर हजारों की संख्या में शहर व ग्रामीण क्षेत्र के लोगों की भीड़ उमड़ती है। कोविड-19 के ²ष्टिगत भीड़ को एकत्र होने से रोकने के लिए शासन ने गाइडलाइन जारी की है। इसके अनुसार इस बार रावण पुतला दहन नहीं किया जाएगा, ताकि कोरोना संक्रमण को फैलने का मौका न मिले। विधायक ने श्रमदान करा शुरू कराई नहर की सिल्ट सफाई

बलरामपुर :

चित्तौड़गढ़ बांध निर्माण खंड के अंतर्गत नहरों की सिल्ट सफाई का शुभारंभ किया गया। गैंसड़ी विधायक शैलेश सिंह शैलू ने विधि-विधान से पूजा-अर्चना व श्रमदान किया।

विधायक ने कहाकि नहरें सिचाई का मुख्य साधन हैं। नहरों की सिल्ट सफाई से विधानसभा क्षेत्र गैंसड़ी के किसानों को फसलों के लिए भरपूर पानी मिल सकेगा। साथ ही नहर के आखिरी छोर तक पानी पहुंच सकेगा। सभी किसानों के लिए पानी साल भर नहरों में उपलब्ध रहेगा। कहाकि हर खेत तक पानी पहुंचाना ही सरकार की प्राथमिकता है। विधायक ने सिचाई विभाग के अधिकारियों को नहरों की सिल्ट सफाई का कार्य पारदर्शितापूर्ण ढंग से कराने का निर्देश दिया। अधिशासी अभियंता अखिलेश कुमार सिंह, सहायक अभियंता फूलचंद सोनकर, अवर अभियंता पिकी, अजीज, धीरेंद्र कुमार, संतोष कुमार यादव मौजूद रहे।

Edited By: Jagran