बलरामपुर :

शारदीय नवरात्र के अंतिम दिन देवी मंदिरों में श्रद्धालुओं ने आदिशक्ति के नौंवें स्वरूप माता सिद्धिदात्री की विधि विधान से आराधना की। शक्तिपीठ देवीपाटन समेत जिले भर के मंदिरों में दुर्गा सप्तशती व दुर्गा चालीसा का पाठ किया गया। व्रतधारियों ने हवन-पूजन के बाद कन्या भोज कराया। दुर्गा-पूजा पंडालों पर भी भक्तों ने पूजन कर मन्नतें मांगी। जिला मुख्यालय से सटे बिजलीपुर स्थित मां बिजलेश्वरी देवी मंदिर में हवन-पूजन के लिए श्रद्धालुओं की कतार लगी रही। लोगों ने अपने बच्चों का मुंडन संस्कार भी कराया। नगर के झारखंडी मंदिर में भी हवन व कन्या भोजन कराने वालों का तांता लगा रहा। उतरौला संवादसूत्र के अनुसार नवमी तिथि को मंदिरों में श्रद्धालुओं की भारी भीड़ जुटी। व्रतधारियों ने कन्या भोज कर मां दुर्गा का आशीर्वाद प्राप्त किया। नगर के ज्वाला महारानी मंदिर, काली माता मंदिर, संतोषी माता मंदिर, पंचवटी मंदिर, त्रिपुर बाला सुंदरी मंदिर, आदिशक्ति मंदिर पेहर, महदेइया बाजार मंदिर में भोर से ही श्रद्धालुओं की कतार लग गई। पचपेड़वा के गायत्री शक्तिपीठ में शारदीय नवरात्र के अंतिम दिन पूर्णाहुति समारोह का आयोजन किया गया। लोगों ने हवन-पूजन व कन्या पूजन के साथ देवी मां से मन्नतें मांगी। शक्तिपीठ पर महंत ने कराया कन्या भोज :

-तुलसीपुर : शक्तिपीठ देवीपाटन मंदिर पर व्रतधारियों ने हवन पूजन किया। भक्तों ने मां पाटेश्वरी का दर्शन करने के बाद नारियल तोड़ कर मनौती मांगी। हवन कुंड के पास भारी संख्या में उपस्थित कन्याओं को लोगों ने भोज कराकर दक्षिणा दी। महंत मिथिलेश नाथ योगी ने पूर्णाहुति देकर सर्वे भवन्तु सुखिन: की कामना की। पूर्णाहुति के बाद कन्याओं का पूजन कर उन्हें भोजन कराया गया।

मां दुर्गा की उतारी आरती :

-ललिया : क्षेत्र के रामनगर रसईपुरवा में महाआरती का आयोजन हुआ। जिला पंचायत अध्यक्ष प्रतिनिधि श्याममनोहर तिवारी ने आरती में शामिल होकर पूजा-अर्चना कर देश की खुशहाली के लिए प्रार्थना की। पंकज मिश्र व सहजराम मिश्र ने लोगों को तिलक लगाकर भगवा रंग का अंगवस्त्र भेंट किया। आदेश तिवारी, अतुल मिश्र, विपुल मिश्र, अनिल तिवारी, रिकू मिश्र शामिल रहे।

Edited By: Jagran