पचपेड़वा (बलरामपुर) : नेशनल हाईवे (एनएच) का दर्जा प्राप्त बौद्ध परिपथ के पैचिंग कार्य में ही मानकों की अनदेखी की जा रही है। स्थिति यह है कि यह कार्य भी नाबालिग बच्चों से कराया जा रहा है। यह सब सरेआम हो रहा है। इसके बाद भी जिम्मेदार अधिकारी अंजान बने हैं।

बौद्ध परिपथ मार्ग पर इन दिनों पैचिंग कार्य चल रहा है। स्थानीय जुड़ीकुइयां चौराहे पर नाबालिग बच्चे अजय (10), कैलाश (10) पैचिंग के पूर्व सड़क पर झाड़ू लगाने व अजय नामक एक अन्य बालक तार के ब्रश से सड़क साफ करता दिखा। यहां पैचिंग का कार्य देख रहे विनोद ने बताया कि ये दोनों अनाथ बच्चे बिहार प्रांत के निवासी है। अपनी जीविका के लिए काम कर रहे हैं। इस संबंध में ठेकेदार सन्नू ने बताया कि यह कार्य नेशनल हाईवे का है। मुझे मौखिक तौर पर कहा गया है। इसके अनुरूप ही कार्य करा रहा हूं। मजेदार यह है कि सरेआम बाल श्रमिक कार्य कर रहे हैं, लेकिन जिम्मेदार अधिकारी चुप्पी साधे हैं। एसडीएम तुलसीपुर सुशीललाल श्रीवास्तव कहते हैं कि मामले की जांच कराई जाएगी।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस