बलरामपुर: आर्यवीर दल व अखिल भारतीय प्रधान संगठन ने संयुक्त रूप से जिलाधिकारी श्रुति को ज्ञापन देकर कोड़री घाट का सुंदरीकरण कराने की मांग की है। मुख्यमंत्री व राज्य मानवाधिकार आयोग को ज्ञापन भेजकर कोड़री घाट का नामकरण पूर्व मुख्यमंत्री स्वर्गीय कल्याण सिंह के नाम पर किए जाने का अनुरोध किया है। वहीं, आर्यवीर दल व अखिल भारतीय प्रधान संगठन ने जिलाधिकारी को इस संबंध में एक ज्ञापन देते हुए सुंदरीकरण की मांग की।

आर्यवीर दल के संचालक अशोक तिवारी आर्य ने बताया कि ज्ञापन में जिला पंचायत अध्यक्ष आरती तिवारी, भाजपा जिलाध्यक्ष प्रदीप सिंह, सदर विधायक पल्टूराम, तुलसीपुर विधायक कैलाश नाथ शुक्ल व पूर्व मंत्री हनुमंत सिंह के समर्थन पत्र के साथ तराई क्षेत्र के प्रधान व 1100 क्षेत्रवासियों का हस्ताक्षर कराकर ज्ञापन भेजा गया है।

ज्ञापन में कहा है कि हिमालय की तलहटी से लेकर 71 किमी क्षेत्र तक के अधिकांश लोग राप्ती नदी के कोड़री घाट पर ही अंतिम संस्कार व तीज त्योहारों पर स्नान, पूजा-पाठ व अन्य धार्मिक अनुष्ठान करते हैं।

यहां पक्का घाट न बन होने के कारण दुर्घटना, प्रदूषण व समस्याएं बनी रहती हैं। कहाकि इस घाट का शिलान्यास पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह ने किया था। इसलिए उनकी स्मृति में कोड़री घाट पर सीमेंटेड सीढ़ी का पक्का घाट बनवाकर उसका नाम कल्याण घाट किया जाए। कल्याण घाट के पास श्मशान भूमि आवंटित कर दाह संस्कार के लिए कुंड व भवन निर्माण कराया जाएगा। नदी के दोनों किनारों पर कल्याण सेतु का बोर्ड व हरिहरगंज-बरदौलिया मार्ग का नाम कल्याण सिंह मार्ग करने की मांग की है।

सेतुबंध त्रिपाठी, स्वामी आत्मानंद, राजेश कुमार मिश्र ,विजय प्रताप शुक्ल, तहसीलदार तिवारी, आनंद तिवारी, देव मणि भारती मौजूद रहे।

Edited By: Jagran