जागरण संवाददाता बैरिया (बलिया): विकास खंड अंतर्गत गंगा के उस पार ग्राम पंचायत नौरंगा में गंगा का कटान रुकने का नाम नहीं ले रहा है। गुरुवार को प्रधानमंत्री सड़क मार्ग नदी के मुख्य धारा में समाहित हो गया। इससे पूर्व बुधवार को कालीमाता का मंदिर कटान की भेंट चढ़ गया था और अब भी कटान तेज है। बस्ती से महज सात मीटर की दूरी पर कटान है, कटान के मुहाने पर रामजी ठाकुर, हरी ठाकुर,त्रिलोकी ठाकुर, तेजनारायण ठाकुर, बबन ठाकुर आदि का मकान है। ऐसे में यह कटान पीड़ित अपने मकान के तरफ बढ़ता कटान को देख छाती पीट रहे है।

धनु ठाकुर ने अधिशासी अभियंता वीरेंद्र सिंह से गुहार लगाया तो अधिशासी अभियंता ने हाथ खड़ा कर दिया। अधिशासी अभियंता का कहना है कि बंबूक्रेट विधि से हमने कटान रोकने का पूरा कोशिश किया लेकिन कटान लंबे दूरी में है, अब क्या किया जा सकता है। ऐसे में नौरंगा ग्राम पंचायत के करीब 20 हजार आबादी को गांव विलीन होने का भय सता रहा है। कटान से अब तक पांच दर्जन से अधिक किसानों के 70 एकड़ से अधिक परवल की फसल सहित करीब 300 एकड़ उपजाऊ भूमि गंगा नदी के मुख्यधारा में विलीन हो गई है। किसान बबन ठाकुर, बैकुंठ ठाकुर, त्रिलोकी ठाकुर, रामजी ठाकुर, सत्येंद्र ठाकुर, विनोद ठाकुर आदि किसानों की उपजाऊ भूमि नदी में विलीन हो गई है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप