जासं, रतसर (बलिया) : खुले में घुम रहे बड़ी संख्या में बेसहारा गोवंश खेतों को तबाह कर रहे हैं। ऐसे में गोवंश पर हमले भी अब आम बात हो गई है। विकास खण्ड गड़वार क्षेत्र के जनऊपुर गांव में खुले घुम रहे एक सांड को गांव के ही लोगों ने भाला मारकर घायल कर दिया। इसके विरोध में गुरुवार को युवाओं ने मंगला चट्टी पर प्रदर्शन कर आरोपी के खिलाफ कार्रवाई व घायल गोवंश का इलाज कराने की मांग की। युवाओं ने बताया कि मंगलवार की रात में सांड को किसी ने भाला मारकर घायल कर दिया। बुधवार को सुबह वह लहुलूहान हालत में मिला। पिछले कई दिन से कुछ लोग सांड के पीछे लगे थे। जब भी सांड गली में दिखाई देता था तो उसकी लाठी, डंडों से पिटाई कर देते थे। ग्रामीणों ने पशु चिकित्सकों को सूचना दी लेकिन कोई भी सांड का इलाज करने नहीं आया इसको लेकर ग्रामीणों में आक्रोश है। ग्रामीणों ने बताया कि हम सभी आपस में चंदा इकट्ठा कर उसका इलाज करा रहे हैं। भाला लगने के बाद सांड हिसक प्रवृत्ति का हो गया है। प्रदर्शन करने वालो में शिवजी गुप्त, मिथिलेश पाण्डेय, विजय कुमार, चन्दन पाण्डेय, श्री निवास, परशुराम पाण्डेय, विशाल आदि शामिल थे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस