जागरण संवाददाता, बलिया : रेल राज्यमंत्री मनोज सिन्हा शनिवार को वाराणसी-बलिया रेल खंड पर हो रहे विद्युतीकरण कार्य का निरीक्षण करेंगे। रेल राज्यमंत्री की संतुष्टि के बाद 31 मार्च को वाराणसी से बलिया के बीच पहली इलेक्ट्रिक इंजन युक्त ट्रेन का ट्रायल होगा। अगर सब कुछ ठीक रहा तो एक अप्रैल से वाराणसी से बलिया के बीच इलेक्ट्रिक ट्रेनों का परिचालन शुरू किया जाएगा।

रेल राज्यमंत्री मनोज सिन्हा सुबह 10 बजे वाराणसी से स्पेशल सैलून से चलकर गाजीपुर होते हुए दोपहर तीन बजे तक बलिया रेलवे स्टेशन पर पहुंचेंगे। यहां 15 मिनट तक स्टेशन का जायजा लेंगे। इस दौरान प्लेटफार्म नंबर एक का विस्तारीकरण, निर्माणाधीन भवनों संग प्रस्तावित स्वचालित सीढ़ी व वा¨शग पिट के लिए प्रस्तावित जगह का भी निरीक्षण कर सकते हैं। यहां से दोपहर 3.15 बजे स्पेशल सैलून से ही वाराणसी के लिए रवाना होंगे। रेल राज्यमंत्री का प्रोटोकाल आते ही बलिया रेलवे स्टेशन पर तैयारियां युद्ध स्तर पर शुरू कर दी गईं। सर्कुले¨टग एरिया में लगे ठेले, अराजकता फैला रहे दोपहिया व चार पहिया वाहन व खानपान की दुकानों को हटवाया जाने लगा। ताकि रेल राज्यमंत्री मनोज सिन्हा जब निरीक्षण के लिए स्टेशन से बाहर निकले तो उन्हें सचमुच मॉडल स्टेशन दिखाई दे। वहीं स्टेशन को भी दुल्हन की तरह सजाया जाने लगा। प्लेटफार्म से लेकर एक-एक भवन की रंगाई-पोताई युद्धस्तर पर कराई जाने लगी। प्लेटफार्म पर महीनों से बंद पड़े नलों को ठीक कराने के साथ ही आरओ प्लांट को चालू करा दिया गया है। रेलवे यार्ड में जेसीबी से जंगली घासों को कटवाया जा रहा है। इसके पहले गुरुवार को रेलवे बोर्ड दिल्ली व गोरखपुर जोन के अधिकारियों ने विद्युतीकरण कार्य का निरीक्षण किया था।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस