मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

जागरण संवाददाता, बांसडीहरोड (बलिया) : सदर तहसील क्षेत्र में कई दिनों से चल रही पारिवारिक लाभ के फर्जीवाड़े में जांच की प्रक्रिया पूरी होने के साथ अब कार्रवाई की ओर सबकी निगाहें हैं। इस प्रकरण से जुड़े लोगों में काफी भय का माहौल बना हुआ है। मामले में जांच अधिकारी ने कई दिनों की जांच के बाद अपनी विस्तृत रिपोर्ट उपजिलाधिकारी को सौंप दी है।

विगत दिनों सदर तहसील के कई गांवों में पारिवारिक लाभ के फर्जीवाड़े के खुलासे के बाद हड़कंप मच गया था। बड़ी संख्या में फर्जी दस्तावेजों के जरिये कूट रचना कर जालसाजों ने अपात्रों को पात्र बनाकर इस योजना के लाभार्थियों की श्रेणी में खड़ा कर दिया था। मामले का खुलासा होने पर तहसील प्रशासन ने आननफानन में इसकी जांच शुरू कर दी और देखते ही देखते बड़ी संख्या में फर्जीवाड़े की रूपरेखा सामने आ गई। प्रथम दृष्टया दोषी महिला लेखपाल ममता को निलंबित कर दिया। अब बाकी के लोगों पर कार्यवाही को लेकर चर्चा तेज हो गई है। ''जांच रिपोर्ट मिल चुकी है। फिलहाल चुनाव के व्यस्त कार्यक्रम के कारण रिपोर्ट का अवलोकन नहीं किया जा सका है। अवलोकन करके रिपोर्ट के आधार पर इससे जुड़े किसी भी जिम्मेदार को बख्शा नहीं जाएगा।''

-अश्वनी श्रीवास्तव, उपजिलाधिकारी।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप