जागरण संवाददाता, बलिया : पूर्वमंत्री नारद राय ने बुधवार को भी बाढ़ पीड़ितों के बीच गए। उन्होंने शिवपुर दीयर में गजरी, धोधा राय के डेरा, देवी राय के डेरा, गरीबा राय के डेरा, पांडेय डेरा के सैकड़ों पीड़ितों को दवा भोजन एवं आवश्यक सामान वितरित किया। उन्होंने प्रशासन से बाढ़ प्रभावित किसानों के फसलों का मुआवजा तत्काल देने की मांग की। कहा कि गंगा नदी में बाढ़ आने के साथ कटान शुरू हुआ तो उसी दौरान मुख्यमंत्री ने बाढ़ क्षेत्रों का दौरा कर जिला प्रशासन को प्रभावित लोगों को 12 घंटे के अंदर राहत सामग्री पहुंचाने का निर्देश दिया। जो हम सभी को अच्छा लगा, लेकिन 12 घंटे को छोड़िए 12 दिन बाद भी बाढ़ व कटान से पीड़ित लोग मुंह ताक रहे है। राहत समाग्री वितरण करने के नाम पर सत्ताधारी नेता व अधिकारी अपना पेट भरने में लगे है।

पूर्व मंत्री ने कहा कि जिलाधिकारी ने खुद दियारांचल के कई बाढ़ पीड़ित गांवों में जाकर स्थिति का जायजा लिए लेकिन राहत सामग्री नहीं पहुंची। जनपद के बर्बाद हुए फसल का मुआवजा दस हजार प्रति बीघा के हिसाब से दिया जाय। इस मौके पर श्री प्रकाश पांडे मुन्ना, राजकुमार पांडेय, बलराम यादव, अजीत यादव, अजय शंकर यादव, मुरली यादव, संजय यादव, रामेश्वर यादव, छितेश्वर यादव, विपुल चौबे, भीम चौधरी, दिनेश शर्मा, टुनटुन पांडेय, सत्येंद्र राय, विशाल आदि मौजूद थे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप