जागरण संवाददाता, सहतवार (बलिया): गंगा व सरयू के बढ़ते जलस्तर से दोआब पर बसे गांवों के लोगों की धड़कनें तेज हो गई हैं। सरयू जहां खतरा बिदु से ऊपर बह रही है वहीं गंगा का बहाव भी तेज हो गया है। खतरा बिदु से ऊपर बह रही सरयू के रुप से कई गांवों में बाढ़ का पानी घुस गया है। दर्जनों गांवों का संपर्क भी टूट गया है। इलाके में अफरातफरी का माहौल है।

चांदपुर गेज पर बुधवार को सरयू नदी खतरे निशान 58 मीटर से 1.31 मीटर ऊपर बह रही थी। तीन दिनों से जलस्तर में लगातार हो रही वृद्धि से क्षेत्रवासी सकते में हैं। तेज बढ़ाव के कारण चांदपुर बिन्द बस्ती, चितविसांव कला व रामपुर नम्बरी में लोगो के घरों में पानी घुस गया है। वहीं टीएस बंधे का एप्रोच मार्ग डूबने से से लोगों को आवागमन में काफी दिक्कत आ रही है। गांव में पानी लगने से ग्रामीण मवेशियों को टीएस बंधा या रोड किनारे रखने को मजबूर हैं। लोगों का आरोप है कि बाढ़ के दौरान प्रशासन मवेशियों के चारे की व्यवस्था करता था लेकिन इस बार अभी तक कोई व्यवस्था नहीं की गयी है।

उधर डेंजर जोन में बसे नवकागांव (पासवान बस्ती), धूपनाथ व बैजनाथ यादव का डेरा बाढ़ के पानी से घिर गया है। इन गांवों का संबंध कट गया है। नवकागांव के प्रधान प्रतिनिधि प्रदीप पासवान ने बताया कि अभी तक प्रशासन की ओर से नांव की व्यवस्था नहीं की गई है। लगभग 150 परिवार बाढ़ से प्रभावित हैं। वहीं धूपनाथ व बैजनाथ यादव के डेरा के लगभग पांच दर्जन से अधिक परिवारों के सामने भी ऐसे ही हालात हैं। ऐसी स्थिति में ग्रामीणों को गहरे पानी से होकर आना जाना पड़ रहा है। पूर्व प्रधान धूपनाथ यादव ने तहसील प्रशासन से तत्काल नाव की व्यवस्था करने की मांग की है।

-

तिलापुर में शुरू हुआ निरोधात्मक कार्य

रेवती (बलिया) : टीएस बंधा के डेंजर जोन तिलापुर में जालीदार स्पर के नदी में समाहित होने के दो दिन बाद बुधवार को मौके पर पहुंचे जेई आरके राय ने निरोधात्मक कार्य शुरू कराया। कटान रोकने के विभाग बालू भरी बोरियां डलवा रहा है लेकिन ग्रामीण इसे अपर्याप्त बता रहे हैं। ग्रामीणों का कहना हैं कि चांदपुर से वशिष्ठ नगर प्लाट तक 10 किमी की लंबाई में नदी बंधा से सट कर बह रही है। डेंजर जोन तिलापुर की स्थिति पहले ही खराब हो चुकी है। ग्रमाीणों ने डेंडर जोन में जनरेटर व लाईट के साथ बंधे की निगरानी के लिए सुपरवाईर की व्यवस्था करने की मांग दोहराई।

-

गंगा भी पकड़ रहीं रफ्तार

मझौंवा (बलिया) : बुधवार को गंगा के जलस्तर में वृद्धि का क्रम जारी रहा। केंद्रीय जल आयोग गायघाट केंद्र पर गंगा का जलस्तर 54.680 मीटर दर्ज किया गया। जबकि बढ़ाव की गति आधा सेमी प्रति घण्टा रही। उधर जलस्तर में लगातार हो रही वृद्धि से सुघर छपरा, उदई छपरा व गोपालपुर के ग्रामीण दहशत में है।

बाढ़ से घिरे दर्जनों गांव

सिकंदरपुर (बलिया): तहसील क्षेत्र के दर्जनों गांव में सरयू नदी का नदी का पानी घुस गया है। वहीं दियारे की स्थिति और ही भयावह हो चुकी है। तटवर्ती लीलकर गांव के बिद बस्ती में पानी लगने व नदी के तेवर से लोगों में दहशत का माहौल है। उधर खरीद-दरौली घाट मार्ग बाढ़ की जद में आने से रास्ता अवरुद्ध हो गया है। खरीद गांव निवासी राजकुमार यादव, मनन यादव, इंदल चौधरी, रामावत चौधरी, विद्या चौधरी ने बताया कि जलस्तर में वृद्धि से स्थिति भयावह होती जा रही है।

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप