बलिया : मंत्री स्वाति सिंह को मनियर से लौटते वक्त कटान व बाढ़-पीड़ित इलाके की महिलाओं ने रोककर अपना दुखड़ा सुनाया। उन्होंने बताया कि कटान और बाढ़ के चलते जीवन मुश्किलों से भर गया है। इससे उबारने में उनकी सीधी भागीदारी होगी तभी उन्हें निजात मिल सकेगी। मंत्री ने दुख में स्वयं को शामिल बताते हुए शीघ्र ही स्थायी समाधान का प्रयास करने का आश्वासन दिया।

गांव की महिलाओं तेतरी देवी, क्रांति देवी, शकुंतला देवी, कौशल्या देवी, ज्योति देवी आदि ने मंत्री की गाड़ी को घेर लिया। उन्होंने गुहार लगाई कि उनके गांव को किसी भी कीमत पर बचा लिया जाए या कहीं अन्य जगह स्थायी जगह देकर समाधान किया जाए। मंत्री ने महिला के दर्द को महसूस किया भरोसा दिया कि गांव को किसी भी कीमत पर बचाया जाएगा। कोई न कोई समाधान जरूर होगा।

सीएचसी को चालू कराने की मांग

कटान का दौरा कर लौट रही स्वाति ¨सह रास्ते में खड़े रिगवन गांव के लोगों से मिलीं। ग्रामीणों ने मांग की कि एक दशक से बन चुकी सीएचसी आज तक चालू नहीं हुई। अधिकारियों व जनप्रतिनिधियों से गुहार लगाई गई लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई। इस पर मंत्री ने आश्वासन दिया कि इस पर अधिकारियों से वार्ता होगी।

अधिकारियों संग की बैठक

स्वाति ¨सह ने बाढ़ को लेकर स्थानीय डाक बंगले में जिला प्रशासन के साथ बैठक कर राहत कार्यो की समीक्षा की और निर्देश दिया कि हर क्षेत्र में स्थिति पर नजर बनाए रखें। हर पीड़ित को राहत सामग्री मिल जाए। कटान के लिहाज से बंधों की सुरक्षा पर विशेष सतर्कता बरती जाए। बैठक में डीएम भवानी ¨सह खंगारौत, एसपी श्रीपर्णा गांगुली, एडीएम मनोज ¨सघल, बाढ़ एक्सईएन अशोक कुमार मौजूद थे।

¨रग बांध बनाने को दिया पत्रक

सहतवार : मंत्री स्वाति ¨सह ने बाढ़ से प्रभावित क्षेत्र रामपुरनम्बरी, रेगहा, कोलकला बिन्दबस्ती, चितसांव, चांदपुर पुरानी बस्ती आदि गांवों का भ्रमण कर लोगों की समस्याएं सुनीं। क्षेत्र के मोहन चौरसिया, प्रधान पंचदेव यादव, रामजी यादव, पारस यादव, हरेरामयादव, लल्लन यादव ने ¨रग बांध बनाने के लिए पत्रक दिया।

Posted By: Jagran