जागरण संवाददाता, रेवती (बलिया) : पूर्वोत्तर रेलवे के छपरा-बलिया रेलखंड पर स्थित रेवती स्टेशन आजादी के इतने वर्षों बाद भी उपेक्षित है। जनप्रतिनिधियों तथा रेल प्रशासन की उदासीनता के चलते यहां यात्री सुविधा का समुचित विस्तार अब तक नहीं हुआ है। प्लेटफार्म का सतह नीचा होने से यात्रियों को ट्रेन पर चढ़ने उतरने में काफी परेशानी झेलनी पड़ती है। यात्री निवास जर्जर है, ऊपरगामी पुल के अभाव में दो ट्रेनों के आने व क्रा¨सग के समय अक्सर दैनिक यात्री चोटिल हो जाते हैं। अभी दूसरे प्लेटफार्म का निर्माण भी नहीं हो पाया है। नगर क्षेत्र की जनता की लंबे समय से चली आ रही मांग के बावजूद सियालदह बलिया एक्सप्रेस का ठहराव सुनिश्चित नहीं हो पाया है। क्षेत्रवासी लक्ष्मण पांडेय ने बताया कि अभी तक रेवती रेलवे स्टेशन को ई श्रेणी में रखा गया है, जिससे सुदूर स्टेशनों से रेवती का टिकट मांगने जल्दी नहीं मिल पाता है। ऐसे में लोगों को सहतवार व सुरेमनपुर स्टेशन तक का टिकट लेना पड़ता है। ओमप्रकाश कुंवर ने कहा कि रेवती स्टेशन पर यात्री सुविधाओं का टोटा है।

Posted By: Jagran