जागरण संवाददाता, बिल्थरारोड (बलिया): स्थानीय देवेन्द्र पीजी कालेज में चल रहे रोवर्स रेंजर्स के पांच दिवसीय प्रशिक्षण शिविर का रविवार को समापन हो गया। उक्त शिविर में छात्रों को स्काउ¨टग से संबंधित जानकारियां देने के अलावा व्यावहारिक व प्रायोगिक प्रशिक्षण प्रदान किया गया। युवक व युवतियों को भविष्य में सक्रिय योगदान करते हुए सम्पूर्ण समाज को संवारने के गुण सिखाए गए। इसके अलावा रस्सियों से गांठबंधन, प्राथमिक चिकित्सा, टेंट निर्माण, गृह सज्जा, आपात स्थिति में मंकी ब्रिज व लक्ष्मण ब्रिज आदि बनाने का विधिवत प्रशिक्षण प्रदान किया गया। कम संसाधन में जीवनयापन करने की कलाओं का प्रदर्शन किया गया। छात्रों ने रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रम भी प्रस्तुत किए। स्काउट व गाइड की मुख्य आयुक्त डा. शैलजा राय ने रोवर्स व रेंजर्स द्वारा बनाए गए टेंट आदि का निरीक्षण करने के साथ ही उनसे प्रश्न पूछकर मूल्यांकन भी किया। कहा कि प्रत्येक क्षेत्र में रचनात्मक विकास के लिए रोवर्स रेंजर्स शिविर जैसे क्रियाकलापों की आवश्यकता है। रोवर्स प्रभारी डा.वीरेन्द्र ¨सह ने कहा कि इस शिविर के माध्यम से छात्रों को अनुशासन का पाठ पढ़ाने के साथ ही पीड़ित मानवता की सेवा के लिए जागृत किया जाता है। रोवर्स के विवेकानंद क्रू में 4 व रेंजर्स के निर्भया रेंजर में 6 टोलियां बनाई गई थी। डा. बलदेव ¨सह, डा.मिथिलेश ¨सह, डा.मुकेश कुमार झा, डा. शिवाकांत मिश्र, डा. हरेराम ¨सह, अभय ¨सह, प्रवीण ¨सह आदि मौजूद रहे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस