जागरण संवाददाता, बलिया : जनपद के हनुमानगंज ब्लॉक के सागरपाली दुर्गा मंदिर मुख्य बाजार में सोमवार को सघन मिशन इंद्रधनुष 2.0 दूसरे चरण अभियान का शुभारंभ किया गया।

इस अवसर पर दो साल तक के बच्चों को पोलियो ओपीवी ड्रॉप पिलाई गई। जिलाधिकारी, जिला प्रतिरक्षण अधिकारी, एसीएमओ डॉ. एके मिश्रा बच्चों ने बच्चों को पोलियो ड्रॉप पिलाते के बाद उनके अभिभावकों को प्रोत्साहित किया। जनपद में दो वर्ष तक छूटे हुए बच्चों एवं गर्भवती महिलाओं को वर्ष 2020 तक 90 फीसदी प्रतिरक्षित करने के उद्देश्य से अभियान की शुरुआत जिलाधिकारी श्रीहरि प्रताप शाही ने की।

इस मौके पर जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डॉ. एके मिश्र ने बताया कि नवजात शिशुओं और बच्चों में होने वाली जानलेवा बीमारियों जैसे पोलियो, खसरा-रूबेला, रोटा वायरस, डिप्थीरिया, टिटनेस, काली खांसी आदि से बचाने के लिए संपूर्ण टीकाकरण बेहद जरूरी है। सरकार नवजात शिशुओं और बच्चों को इन बीमारियों से बचाने के लिए हर संभव प्रयास कर रही है। उन्होंने कहा कि इंद्रधनुष के सात रंगों को प्रदर्शित करने वाले इस मिशन का उद्देश्य वर्ष 2020 तक सभी बच्चों का टीकाकरण करना है, जिन्हें टीके नहीं लगे हैं। इस मौके पर यूनिसेफ से डीएमसी नसीम खान, अपर शोध अधिकारी रामहित, प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र वायना के प्रभारी डॉ वेंकटेश कुमार, बीपीएम जितेंद्र कुमार, यूएनडीपी से जिला कोल्ड चैन मैनेजर बहादुर प्रसाद आदि लोग उपस्थित रहे। सात चरणों में चलेगा अभियान

अभियान लगातार चार चरणों चलाया जाएगा। पहला चरण चरण 02 दिसंबर से 12 दिसंबर 2019 तक सफलतापूर्वक चलाया गया। अभियान का दूसरा 6 जनवरी से 16 जनवरी तक चलाया जाएगा। वहीं तीसरा चरण 3 फरवरी से 12 फरवरी और चौथा 2 मार्च से 16 मार्च में चलाया जाएगा। यह अभियान जिले के नगरीय इलाकों, मुरलीछपरा, हनुमानगंज, बांसडीह, रसड़ा ब्लॉक में चलाया जा रहा है। पहले चरण में 100 प्रतिशत बच्चों व 114 प्रतिशत गर्भवती महिलाओं का टीकाकरण किया गया था।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस