जागरण संवाददाता, बलिया : जिले के बैरिया तिमुहानी पर हुई घटना के बाद दोनों पक्ष के लोगों की ओर से लगातार बयान आ रहे हैं। इस मामले में विधायक सुरेंद्र ¨सह के नामजद होने के बाद राजनीतिक चर्चा भी काफी तेज हो गई है। इधर विधायक खुद को निर्दोष बता रहे हैं, वहीं मारपीट में घायल प्रशांत उपाध्याय लगातार विधायक पर आरोप लगा रहे हैं। वह इस संबंध में तहरीर महानिरीक्षक वाराणसी जोन देकर न्याय व अपने परिवार की सुरक्षा की गुहार लगाए है। पुलिस पूरे मामले की जांच में जुटी है। मारपीट में घायल प्रशांत उपाध्याय ने वाराणसी में उपचार कराने के दौरान ही विधायक सुरेंद्र ¨सह पर आरोप लगाया है कि वे बहुत दिनों से मेरी जान के पीछे हाथ धोकर पड़े हैं। बतौर प्रशांत उनके परिवार के लोग खुले तौर पर यह कहा करते थे कि मुझे वे बेहाल कर देंगे। मेरे परिवार के बीच मेरे जीवन काल में किसी तरह का कोई विवाद नहीं था। दो महीने से विधायक के उकसाने पर पारिवारिक विवाद हुआ है। मैं पूरी घटना की उच्च स्तरीय जांच की मांग मुख्यमंत्री योगी जी से किया हूं। जिससे कि दूध-पानी अलग हो सके। मैं यह भी निवेदन करता हूं कि जिले के सभी अधिकारियों से भी विधायक की कार्यशैली के संबंध में बयान लिया जाए। विधायक आज खुद की सफाई दे रहे हैं, जबकि अभी भी वे अपराधियों को संरक्षण दे रहे है। कहा है कि मैं भी भाजपा का जन्मजात कार्यकर्ता हूं। पदाधिकारी भी रहा हूं। मैं अपनी बात संगठन एवं राष्ट्रीय फोरम में भी रखूंगा। इसके बाद जो निर्णय होगा मुझे मंजूर है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप