जासं, बैरिया (बलिया) : गर्मी के दिनों में लोगों के कैसे तर होंगे हलक, जब अधिकतर इंडिया मार्का हैंडपंप खराब पड़े हैं। जी हां, हम बात कर रहे हैं क्षेत्र के विकास खंड मुरलीछपरा, बैरिया, आंशिक रेवती व बेलहरी विकास खंडों के गांवों की, जहां भारी संख्या में इंडिया मार्का हैंडपंप काफी दिनों से खराब पड़े हुए हैं। उक्त तीनों विकास खंडों के दर्जनों गांवों के सैकड़ों इंडिया मार्का हैंडपंप वर्षों से विभिन्न कारणों से खराब पड़े हैं।

जल निगम कहता है कि हैंडपंपों का रखरखाव व मरम्मत ग्राम पंचायतों के जिम्मे हैं, लेकिन ग्राम पंचायतों को जो पैसा इंडिया मार्का हैंडपंपों के रखरखाव के लिए मिलता है, वह अगर ग्राम पंचायत दो हैंडपंपों का रीबोर कर दें तो संकट समाप्त हो जाएगा। ऐसे में बजट के अभाव के कारण सैकड़ों इंडिया मार्का हैंडपंप खराब पड़े हैं। गर्मी शुरू हो रही है आदमी, जीव-जंतु, पशु-पक्षी सबको पानी चाहिए, इसलिए संबंधित विभाग को चाहिए कि अभियान चलाकर खराब पड़े इंडिया मार्का हैंडपंपों को तत्काल ठीक करा दिया जाए। यह कार्य जल निगम करा सकता है, कितु जल निगम के अधिकारियों को लोगों की परेशानी से कोई लेना-देना नहीं है।

Posted By: Jagran