जागरण संवाददाता, बलिया : आजादी के बाद जनपद में सबसे ज्यादा विकास कार्य सपा शासन में हुआ है। भाजपा सरकार सपा सरकार के स्वीकृत कराए गए कार्यों को पूरा नहीं करवा पा रही है। पिछली सरकार में जननायक चंद्रशेखर विश्वविद्यालय के लिए सपा मुखिया ने 10 करोड़ रुपये स्वीकृत किया था लेकिन भाजपा सरकार बनने के बाद उसमें कटौती करते हुए सिर्फ पांच करोड़ रुपये दिए गए। यह सरकार जनपद में आज तक विकास कार्यों की एक भी ईंट नहीं रख पाई। सिर्फ पिछले सरकार में हुए कार्यों का फिर से भूमिपूजन व शिलान्यास कर रही है। उक्त बातें समाजवादी पार्टी कार्यालय पर बुधवार को आयोजित संयुक्त प्रेस वार्ता में जिलाध्यक्ष संग्राम ¨सह यादव ने कहीं। कहा कि केंद्र व प्रदेश सरकार अपने बजट में जनपद को एक रुपया भी नहीं दिया है। इस दौरान पूर्व मंत्री नारद राय ने कहा कि सपा सरकार ने इस जनपद की आने वाली पीढि़यों के लिए विश्वविद्यालय स्वीकृत किया। अब बीजेपी सरकार विश्वविद्यालय के नए भवन निर्माण के लिए 100 करोड़ का बजट दे। जनपदवासियों को बेहतर इलाज उपलब्ध करवाने के ट्रामा सेंटर बनवाने के लिए हमने डीएम से लड़ाई तक लड़ी और सपा मुखिया से जनवरी माह में ही पूरा संसाधन स्वीकृत करवा कर पास करवा दिया था, जिसमें डायलसिस मशीन, डिजिटल एक्सरे, एमआरआई सहित चिकित्सक व स्टाफ सब था, लेकिन भाजपा सरकार बनने के बाद न ट्रामा सेंटर चालू नहीं हुआ। मंत्री जियाउद्दीन रिजवी ने कहा कि घाघरा नदी पर पुल का निर्माण चल रहा था, लेकिन भाजपा सरकार बनने के बाद वहां पैसों के अभाव में कार्य रुका पड़ा है। सरकारी अस्पतालों में सांप काटने वाली सुई और दवा तक नहीं है। इस जनपद में हमेशा सछ्वावना की मिसाल रहा है, लेकिन पिछले दिनों सिकंदरपुर में सत्ता के इशारे पर दंगा करवाया गया। बैरिया के पूर्व विधायक अंचल ने भाजपा सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि बैरिया शिवपुर घाट पर पुल का पैसा पास करवाया गया लेकिन आज वहां धन के अभाव में निर्माण कार्य रुका है। पूर्व विधायक गोरख पासवान, सनातन पाण्डेय ने भी भाजपा सकरकार पर हमला बोला। इस दौरान हरिन्द्र ¨सह, राजन कन्नौजिया आदि उपस्थित रहे।

Posted By: Jagran