जागरण संवाददाता, बैरिया (बलिया) : क्षेत्र की 70 फीसद सड़कें क्षतिग्रस्त हो चुकी हैं जिन पर आवागमन जोखिमपूर्ण हो गया है। स्थिति यह है कि वाहनों का आवागमन तो दूर, पैदल यात्रियों को भी आने-जाने में घोर असुविधा हो रही है। सभी सड़कों को गड्ढा मुक्त करने की योगी सरकार की फरमान का कोई असर यहां की सड़कों पर नहीं देखने को मिला क्योंकि किसी भी सड़क को गड्ढामुक्त करने का कार्य सरकार द्वारा कराया ही नहीं गया।

क्षेत्र के रामनगर-दलनछपरा-धतुरी टोला मार्ग, भीखा छपरा-रानीगंज मार्ग, टोला शिवन राय-नरहरि धाम मार्ग, दलन छपरा-कर्णछपरा मार्ग, सुरेमनपुर रेलवे स्टेशन-गोपाल नगर मार्ग, सुरेमनपुर-हेमंतपुर-दुर्जनपुर मार्ग, श्रीपालपुर-भगवानपुर मार्ग, मुरली छपरा-लालगंज मार्ग सहित दो दर्जन से अधिक मार्ग क्षतिग्रस्त होकर गड्ढों में तब्दील हो गए हैं। इन मार्गों से गुजरने पर लोगों को काफी कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा है।

लोगों का कहना है कि पिछली सपा सरकार में इन सड़कों की मरम्मत के नाम पर बड़े पैमाने पर फर्जीवाड़ा किया गया था या मानक के अनुसार कार्य नहीं कराए गए थे। जो सड़कें पिछली सरकार में सरकारी दस्तावेजों में मरम्मतशुदा बताई गई हैं उन सड़कों पर गड्ढों का अंबार लगा है। लोगों ने वर्तमान सरकार से उन सड़कों को गड्ढामुक्त कराने का आग्रह करते हुए पिछली सरकार के कराई गई कार्यों का जांच कराने का आग्रह किया है।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस