जागरण संवाददाता, बलिया : यूपी सरकार ने 16 अगस्त से 50-50 फार्मूले के साथ सभी स्कूल खोलने का आदेश दिया है। इसके तहत एक दिन 50 फीसद छात्रों की उपस्थिति होगी। सरकार की ओर से कहा गया है कि उच्च शिक्षण संस्थानों में पठन-पाठन प्रत्येक दशा में एक सितंबर से प्रारंभ करने की तैयारी की जाए। सभी बोर्डों के हाईस्कूल और इंटरमीडिएट के परिणाम घोषित होने के बाद स्नातक स्तर पर दाखिले की प्रक्रिया भी पांच अगस्त से प्रारंभ करने को कहा गया है। माध्यमिक शिक्षण संस्थानों में भी जिन विद्यार्थियों को अगली कक्षा में प्रोन्नत किया गया है, उनके दाखिले की प्रक्रिया भी शुरू करने के निर्देश दिए गए हैं। इस निर्देश के बाद बलिया में सीबीएसई और यूपी बोर्ड के कुल 650 विद्यालयों में खुशी का माहौल है।

बलिया में सीबीएसई बोर्ड से जुड़े लगभग 43 विद्यालय हैं, वहीं यूपी बोर्ड से जुड़े 32 राजकीय विद्यालय, 91 एडेड विद्यालय और 484 वित्त विहीन विद्यालय हैं। विद्यालय खोलने के निर्णय से विद्यार्थियों और अभिभावकों में भी खुशी का माहौल है। अभिभावक अजय सिंह, शैलेश सिंह, राजेश सिंह, दीपेश यादव आदि ने कहा कि कोरोना के कारण सबसे ज्यादा नुकसान विद्यार्थियों की पढ़ाई का हुआ है। रिजल्ट भले की बिना परीक्षा दिए आ गया, लेकिन बच्चे औसत अंक से संतुष्ट नहीं हैं। सीबीएसई बोर्ड के विद्यार्थी तो कई स्थानों पर अपने प्राप्तांक को लेकर संबंधित विद्यालयों पर आंदोलन कर रहे हैं।

Edited By: Jagran