जागरण संवाददाता, बलिया : प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि का लाभ पाने से वंचित किसानों के लिए शुक्रवार को जिले की सभी छह तहसीलों में आए किसानों का आवेदन पत्र लिया गया। दो दिवसीय कैंप के पहले दिन कुल 6153 किसानों ने जरूरी औपचारिकता पूरी कर फार्म भरकर दिया। सभी फॉर्म की फीडिग भी उसी दिन करा दी गई। सदर तहसील में डीएम भवानी सिंह खंगारौत, रसड़ा में सीडीओ बद्रीनाथ सिंह और अन्य तहसीलों में वहां के एसडीएम की देख-रेख में यह कैंप लगा। इस दौरान मौजूद लेखपालों ने किसानों का फार्म प्राप्त किया, ताकि आसानी से योजना का लाभ हर पात्र किसान को दिया जा सके। यह कैंप तीन अगस्त यानी शनिवार को भी लगेगा। छूटे किसान बैंक खाता संख्या, आधार कार्ड व खतौनी के साथ कैंप में जाकर इसका लाभ लें।

कलेक्ट्रेट में जन सुनवाई के बाद डीएम सदर तहसील में पहुंच गए और कैंप की कार्यवाही का निरीक्षण किया। इसी प्रकार मुख्य विकास अधिकारी बद्रीनाथ सिंह रसड़ा तहसील में आयोजित कैंप की कार्यवाही पर नजर बनाए रखे। सीडीओ ने लेखपालों को निर्देशित करते हुए कहा कि हल्के के समस्त पात्र किसानों को इस योजना का लाभ दिलाना सुनिश्चित कराएं। जिनका फार्म आज नहीं जमा हो पाए हैं, उनको सूचित करके तीन अगस्त को जरूर फार्म भरवा लें और तत्काल उसकी फीडिग भी करना सुनिश्चित कराएं। एक भी किसान योजना का लाभ लेने से वंचित नहीं होना चाहिए। दस हजार और किसानों को जोड़ने का लक्ष्य : गर्ग

बांसडीह तहसील में उपजिलाधिकारी अन्नपूर्णा गर्ग ने दीप प्रज्ज्वलित कर शिविर की शुरुआत की। उन्होंने किसानों और राजस्व निरीक्षकों से कहा, प्रधानमंत्री की महत्वाकांक्षी योजना में सभी छूटे हुए किसानों की फीडिग कराई जा रही है। सभी लेखपाल अपने हलके के किसानों से संपर्क में रहें और अब भी कोई छूट गया हो तो उसके फॉर्म की फीडिग कराएं। बताया कि अभी तक दस हजार के आस-पास फीडिग हो चुकी है, लेकिन दस हजार और किसानों को इस योजना के तहत जोड़ने का लक्ष्य रखा गया है। राजस्व निरीक्षक अक्षयबर पांडेय, रामजी पांडे, तहसील अध्यक्ष निर्भय नारायण सिंह, विवेक सिंह, विश्राम यादव, दिलीप सिंह व किसान मौजूद थे। फॉर्म प्राप्ति के बाद तत्काल हो फीडिग

सिकंदरपुर तहसील में एसडीएम राजेश यादव के नेतृत्व में प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजनांतर्गत किसानों के फार्म लिए गए। एसडीएम ने कहा कि फार्म प्राप्त करने के बाद सभी लेखपाल-कानूनगो यह सुनिश्चित कराएं कि तत्काल उसकी फीडिग भी हो जाए। चेताया कि कैंप के बाद भी कोई पात्र किसान योजना का लाभ पाने से वंचित हुआ तो संबंधित लेखपाल से भी पूछताछ की जाएगी। तहसीलदार दूधनाथ, लेखपाल लक्ष्मीकांत यादव, मनोज यादव, जनार्दन वर्मा आदि मौजूद थे। बांसडीह में आए सबसे ज्यादा फॉर्म

सभी तहसील में लगाए गए कैंप में सबसे ज्यादा 3520 फार्म बांसडीह तहसील में आए। इसके अलावा सदर तहसील में 1012, बेल्थरारोड में 631, सिकंदरपुर में 573, रसड़ा में 261 और बैरिया में 156 फॉर्म किसानों ने जमा किया। इसकी फीडिग तत्काल कराने का निर्देश दिए जा चुके हैं।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप