रसड़ा (बलिया) : शादी-विवाह के सिजन में मिलावटी सामानों की बिक्री तेज हो गई है। एक तरफ जहां नगर सहित ग्रामीण अंचलों में मिलावटी कारोबार चरम पर है वहीं दूसरी तरफ खुलेआम दूध में पानी व खाद्य पदार्थो में भारी मिलावट के चलते नागरिकों में काफी आक्रोश देखा जा रहा है।

अप्रैल, मई व जून के महीने में आयोजित होने वाले शादी-विवाह के अवसरों पर खोआ, छेना सहित अन्य खाद्य-पदार्थो में भारी मिलावट की जा रही है और दुकानदार खुलेआम इसकी बिक्री कर रहे हैं। तेज लगन के चलते लोग इन पदार्थो को खरीद तो रहे हैं लेकिन इन खाद्य पदार्थो के सेवन से भयंकर संक्रामक बीमारी की चपेट में आ सकते हैं। आश्चर्य यह है कि रसड़ा क्षेत्र में एक वर्ष बीत गए लेकिन संबंधित विभाग की ओर से इन दुकानदारों के विरुद्ध न तो कोई कार्रवाई की गई और न ही छापेमारी। नागरिकों का कहना है कि मिलावटी सामानों की बिक्री पर नियंत्रण के लिए खाद्य-निरीक्षकों की तैनाती तो है लेकिन बाजारों में कभी भी इनका दर्शन नहीं होता।