बहराइच : सोमवार को फखरपुर ब्लॉक के मझारा तौकली में बांध बनाओ, अस्तित्व बचाओ समिति की बैठक की गई। इसमें स्पर न बनाने पर ग्रामीणों ने नाराजगी जाहिर किया। ग्रामीणों ने खिचड़ी पर्व न मनाकर विरोध जताने का संकल्प भी लिया।

गोष्ठी की अध्यक्षता करते हुए किशनधारी यादव ने कहा कि स्पर बनाने को लेकर क्षेत्रीय जनता कैबिनेट मंत्री तक के पटल पर अपनी समस्या रख चुकी है, लेकिन जिम्मेदार जनता की समस्याओं की अनदेखी कर रहे हैं। जनवरी माह के अंत तक काम नहीं शुरू हुआ तो ग्रामीण भूख हड़ताल को बाध्य हो जाएंगे। आगामी लोकसभा चुनाव का भी बहिष्कार किया जाएगा। सुरेश कुमार ने कहा कि बिरजा पकड़िया, रोहितपुरवा, भिरगूपुरवा, देवनाथपुरवा, बलराजपुरवा व मल्लाहनपुरवा घाघरा की कटान से प्रभावित हैं, जबकि गुलाबपुरवा, हरिजन बस्ती, गोड़ियनपुरवा घाघरा में समाहित हो चुके हैं। समिति अध्यक्ष अशोक कुमार निषाद ने कहा कि शासन व प्रशासन तक गांव को बचाने के लिए हर तरीके से गुहार लगाई जा चुकी है। बावजूद इसके आज तक कोई सुनवाई नहीं हुई । इस मौके पर कृष्ण मुरारी, लक्ष्मी नारायण निषाद, अवधेश कुमार राजभर, चंद्र माधव निषाद, कृष्णकांत गुप्ता ,रामपाल निषाद ,संदीप कुमार निषाद ,धर्मेंद्र संतलाल निषाद ने कहा कि स्पर नहीं तो वोट नहीं। ग्रामीणों ने कहा कि 45 हजार की आबादी घाघरा के मुहाने पर पहुंच गई है। समय रहते कोई उचित कदम नहीं उठाए गए तो बचे हुए गावों का भी अस्तित्व समाप्त हो जाएगा। गोष्ठी में मौजूद लोगों ने एक साथ खिचड़ी भोज न मनाने का संकल्प लिया।

Posted By: Jagran