बहराइच : सोमवार को गृहमंत्री राजनाथ ¨सह ने अंतर्राष्ट्रीय व्यापार को सुलभ बनाने के लिए भारत-नेपाल सीमा पर स्थित रूपईडीहा कस्बे में इंटीग्रेटेड चेकपोस्ट की आधारशिला रखी। यह चेकपोस्ट 145 एकड़ में 200 करोड़ की लागत से बनेगा।

उन्होंने कहा कि हमारी पुरानी परंपरा है कि हम भारतीय हमेशा पड़ोसियों के साथ अच्छे रिश्ते बनाकर रखते हैं। उन्होंने कहा कि इंटीग्रेटेड चेकपोस्ट के निर्माण से इस पिछड़े क्षेत्र में खुशहाली आएगी। उन्होंने कहा कि रूपईडीहा जैसे क्षेत्र में इंटीग्रेटेड चेक पोस्ट स्थापना कोई छोटा-मोटा काम नहीं है। इससे इस क्षेत्र में खुशहाली आएगी और लोगों को रो•ागार मिलेगा। सीमा पार से वाणिज्य, व्यापार व लोगों के आवागमन में बढ़ोत्तरी होने के साथ ही अवैध व्यापार व अवैध घुसपैठ जैसी घटनाओं पर अंकुश लगेगा। उन्होंने इस क्षेत्र में तीसरी बार आने का अवसर मिलने पर सभी मौजूद लोगों को धन्यवाद ज्ञापित किया। सहकारिता मंत्री मुकुट बिहारी वर्मा, बेसिक शिक्षा राज्यमंत्री अनुपमा जायसवाल, विधायक अक्षयवर लाल गोंड, सुभाष त्रिपाठी, सुरेश्वर ¨सह, माधुरी वर्मा ने अपने संबोधन में कहा कि आईसीपी के निर्माण से इस क्षेत्र का विकास होगा। बहराइच जिले में उप्र का पहला आईसीपी की आधारशिला रखने के लिए देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृह मंत्रालय व अन्य संबंधित विभागों के प्रति आभार व्यक्त किया। लैंड पोस्ट अथारिटी ऑफ इंडिया के चेयरमैन अनिल कुमार बांबा ने आईसीपी निर्माण के उद्देश्यों पर विस्तारपूर्वक प्रकाश डाला। कस्तूरबा गांधी आवासीय बालिका विद्यालय नवाबगंज की छात्राओं द्वारा सरस्वती वंदना, स्वागत गीत व देशभक्तिगीत, पं. दीन दयाल उपाध्याय ग्रामीण कौशल योजना के तहत प्रशिक्षण प्राप्त करने वाली थारू जनजाति की बालिकाओं द्वारा थारू मंदिरा नृत्य प्रस्तुत किया गया। इस मौके पर डीजी एसएसबी कुमार राजेश चंद्र, कस्टम कमिश्नर आलोक शुक्ला, लैंड पोस्ट अथारिटी ऑफ इंडिया के सदस्य अखिल सक्सेना, लैंड पोस्ट अथारिटी ऑफ इंडिया के डायरेक्टर ऑपरेशन कर्नल पीके मिश्रा, जिलाधिकारी माला श्रीवास्तव, एएसपी ग्रामीण रवींद्र ¨सह, एसपी श्रावस्ती आशीष श्रीवास्तव समेत केंद्र व प्रदेश सरकार के अधिकारी मौजूद रहे। कार्यक्रम के अंत में संयुक्त सचिव गृह मंत्रालय निधि खरे ने धन्यवाद ज्ञापित किया।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप