बहराइच : दो दिन पूर्व कैसरगंज थाना क्षेत्र के गंडारा में हथियार बंद दबंगों ने तीन घरों में तोड़फोड़, लूटपाट व आगजनी की थी। इस मामले में जांच के दौरान लापरवाही उजागर होने पर एसपी सभाराज ने गंडारा पुलिस चौकी इंचार्ज को सस्पेंड कर दिया है। मामला तूल पकड़ने के बाद पुलिस ने दो और आरोपितों को गिरफ्तार कर घटना में प्रयुक्त ट्रैक्टर-ट्राली को सीज कर दिया है। दैनिक जागरण में पहले पन्ने पर खबर प्रकाशित होने के बाद हरकत में आए पुलिस अधिकारियों ने कार्रवाई का सिलसिला तेज कर दिया है। अभियुक्तों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस ताबड़तोड़ छापामारी भी कर रही है।

गंडारा बाजार निवासी साकिरा बेगम, निसार अहमद व नत्थू की सड़क किनारे जमीन पर कब्जा करने के लिए गांव के दबंग मलोले उर्फ सरवर अपने दो दर्जन से अधिक हथियारबंद साथियों के साथ उनके घरों पर धावा बोल दिया। इस दौरान तोड़फोड़ कर सारे सामानों को उठा ले गए। इसके बाद इन गरीबों के घरों में आग लगा दी। ट्रैक्टर-ट्राली में ईंटों को भरकर दबंग अपने साथ लेकर चले गए। पुलिस चौकी से चंद कदम की दूरी पर असलहों से लैस दबंग एक घंटे तक उत्पात मचाते रहे, लेकिन पुलिसकर्मियों को इसकी भनक तक नहीं लग सकी। उच्चाधिकारियों से जब शिकायत की गई तो पुलिस घटनास्थल पर पहुंची। निसार अहमद पुत्र महबूब अली की तहरीर पर पुलिस ने मलोले उर्फ सरवर समेत पांच नामजद व 15 अन्य के खिलाफ बलवा, मारपीट, तोड़फोड़, आगजनी व अन्य आपराधिक मुकदमा दर्ज किया। एसपी ने बताया कि इस मामले में फरीद अहमद पुत्र अली अहमद निवासी हिसामपुर कैसरगंज व हुजूरपुर थाना क्षेत्र के गौर निवासी इकबाल पुत्र रज्जाक व नौवनपुरवा सखौता निवासी नफीस अहमद पुत्र बराती को गिरफ्तार कर जेल भेजा जा चुका है। घटना में प्रयुक्त ट्रैक्टर-ट्राली को बरामद कर पुलिस ने सीज कर दिया है। एसपी ने बताया कि अन्य आरोपितों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस टीमें लगातार छापामारी कर रही हैं।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप