मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

संसू, बहराइच : आखिरकार पांच दिन बाद फखरपुर सीएचसी के सामने घर में क्लीनिक चलाने वाली स्टॉफ नर्स को सीएमओ ने निलंबित कर दिया। सीएचसी से प्रसूताओं को बहला-फुसलाकर क्लीनिक पर लाने वाली आशा कार्यकर्ता पर कार्रवाई को लेकर सीएमओ ऊहापोह की स्थिति में हैं।

फखरपुर सीएचसी पर मंजू शुक्ला स्टॉफ नर्स के पद पर तैनात हैं। केंद्र से कुछ दूरी पर ही स्थित घर में क्लीनिक भी चलाती हैं। केंद्र पर आने वाली प्रसूताओं को बदहाल स्वास्थ्य सेवाओं का हवाला देकर आशा कार्यकर्ता की मदद से उन्हें अपने क्लीनिक ले जाती थी। शिकायत मिलने पर सीएमओ ने छापामारी की। इस दौरान घर में चौकी पर प्रसव कराती स्टाफ नर्स पकड़ी गईं। ग्राम पटसिया की आशा कार्यकर्ता गीता देवी भी प्रसव के दौरान मौजूद थीं। यहां से कई उपकरण व दवाएं भी बरामद की गई थी। जांच के बाद नर्स को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है। आशा कार्यकर्ता पर कोई कार्रवाई नहीं की गई है। सीएमओ डॉ. एसके सिंह ने बताया कि जांच हो रही है। उन पर भी कार्रवाई की जाएगी।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप