बहराइच : उप मुख्यमंत्री डॉ. दिनेश शर्मा ने शनिवार को यहां कहा कि पहले हमने पठन-पाठन को बेहतर किया, फिर नकल विहीन परीक्षा करा रहे हैं। हम शिक्षित बेरोजगार नहीं, बल्कि बारोजगार युवा तैयार करने पर जोर दे रहे हैं। बेहतर शिक्षा और शिक्षित युवाओं के कौशल को कैरियर से जोड़ने के लिए सरकार लगातार कदम उठा रही है। उन्होंने कहा कि राजकीय स्कूलों में खाली पदों को जल्द भरा जाएगा।

शर्मा यूपी बोर्ड परीक्षा का जायजा लेने दोपहर साढ़े तीन बजे हेलीकाप्टर से पुलिस लाइन उतरे। यहां से वे सीधे महाराज सिंह इंटर कॉलेज गए। तीन कमरों में चल रही परीक्षा का जायजा लिया। केंद्र व्यवस्थापक से बच्चों की उपस्थिति के बारे में जानकारी ली। इसके बाद सीधे राजकीय बालिका इंटर कॉलेज स्थित संकलन केंद्र गए। वहां स्ट्रांग रूम को खोलवाकर सीसी कैमरे की फुटेज को देखा। उन्होंने कहा कि संकलन केंद्र पर कॉपियों के जमा होने तक रिकार्डिंग होनी चाहिए।

जीआइसी में बने कंट्रोल रूम गए। यहां उन्होंने लगभग 15 मिनट रुककर जीजीआइसी व महाराज सिंह इंटर कॉलेज में हो रही परीक्षा का लाइव प्रसारण देखा। निरीक्षण का फुटेज दिखाने के लिए ऑपरेटर से कहा। शिकायत पंजिका का अवलोकन किया। डीआइओएस राजेंद्र प्रसाद को व्यवस्था इसी तरह संचालित कराने के निर्देश दिए।

जीआइसी परीक्षा केंद्र पर व्यवस्थापक शिप्रा चौधरी से पंजीकृत परीक्षार्थी के सापेक्ष उपस्थिति के बारे में जानकारी ली। कमरे में परीक्षा दे रहे कई छात्रों की कॉपियां देखी। एक घंटे निरीक्षण के बाद वे वापस पुलिस लाइन चले गए। उन्होंने परीक्षा से जुड़ी सभी बिदुओं की जानकारी डीएम शंभु कुमार से ली। केंद्र निरीक्षण के बाद पत्रकारों से रूबरू डिप्टी सीएम ने कहा कि हमारा उद्देश्य साफ है। पहले पढ़ाई की बात की। अब नकलविहीन परीक्षा और आगे उत्तीर्ण परीक्षार्थियों के कौशल को बढ़ाना है। एसपी विपिन कुमार मिश्र, एडीएम जयचंद्र पांडेय व अन्य मौजूद रहे।

कॉपियों के कलर बदलने की डीएम को बताई वजह : डिप्टी सीएम जीआइसी पहुंचे तो उनकी नजर बोर्ड की बी कॉपी पर पड़ी। उन्होंने कॉपियां उठाकर देखा और डीएम को कॉपियों पर पड़ी चौड़ी हरी पट्टी के बारे में बताया। कहा कि पहले लोग कॉपियां बदल देते थे। अब इस हरे रंग से गुंजाइश समाप्त हो गई है। डीएम शंभु कुमार ने कहा, सर इस बार कोई चूक नहीं की गई है।

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप