बहराइच, जागरण संवाददाता। शुक्रवार रात को मौसम का मिजाज अचानक बदल गया। तेज हवाओं के साथ बारिश हुई। नानपारा क्षेत्र में दीवार गिर गई। इसके नीचे दबकर मासूम की मौत हो गई। बिजली गिरने से घर की दीवारें दरक गईं। बारिश के चलते कई इलाके जलमग्न हो गए। शनिवार को भी रुक-रुककर बारिश होती रही।

लगातार रुक-रुक हो रही बारिश से निचले इलाकों में कई जगह जलभराव ने लोगों को परेशानी में डाल दिया है। चित्तौरा के जगतापुर में एटीसी टावर पर बिजली गिरने से उपकरण ध्वस्त हो गए हैं। इससे कई घंटे से नेटवर्क बाधित है। 

नानपारा: कहारन पुरवा निवासी मनोज कश्यप का 10 वर्षीय पुत्र मोहित पास की दुकान पर सामान लेने गया था। लौटते समय बारिश से भीगी चहारदीवारी उसके ऊपर गिर गई। मलबे के नीचे बालक दब गया। स्वजन बालक को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र नानपारा लेकर पहुंचे, जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। 

कोतवाल शमशेर बहादुर सिंह ने बताया कि स्वजन ने कोई तहरीर नहीं दी है। लेखपाल मनीष वर्मा ने बताया कि पीड़ित परिवार ने शव का पोस्टमार्टम कराने से मना कर दिया है। 

बिजली गिरने से मकान ध्वस्त, बाल-बाल बचे लोग

नवाबगंज: बारिश के दौरान ग्राम पंचायत बसंतपुर कालिका के सद्दू गांव निवासी राम खेलावन वर्मा के मकान पर बिजली गिरने से एक हिस्सा ध्वस्त हो गया। परिवार के लोग बाल-बाल बच गए। कुछ दूरी पर लगा ट्रांसफार्मर भी चपेट में आने से जल गया। अवर अभियंता शहाबुद्दीन ने बताया कि दो-तीन दिन में नया ट्रांसफार्मर लगाया जाएगा।

पंपिंग सेट लगाकर निकाला पानी 

नानपारा: नगरपालिका और नानपारा देहाती में जलभराव का अधिशाषी अधिकारी रेनू यादव ने निरीक्षण कर कर्मियों को जलनिकासी के निर्देश दिए। पंपिंग सेट लगाकर पानी निकाला गया। कर्मियों को नाला बनाने का प्रस्ताव देने को कहा।

बैराज के फाटक में फंसा दुर्लभ सांभर

बिछिया: कौड़ियाला नदी के तेज बहाव में फंसकर एक दुर्लभ प्रजाति का सांभर चौधरी चरण सिंह गिरिजा बैराज में फंस गया। सुबह घूमने आए आसपास के लोगों ने देखा तो सदर बीट इंचार्ज व वन रक्षक आनंद लाल को इसकी सूचना दी। बैरियर आपरेटर शिवकुमार, वाचर विनोद ने ग्रामीणों की मदद से बाहर निकाला।

Edited By: Mukesh Pandey

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट