बहराइच : तराई में बुखार का कहर थम नहीं रहा है। जिला अस्पताल में 'एक्यूट इंसेफ्लाइटिस ¨सड्रोम' से पीड़ित मासूम बच्ची की मौत हो गई। पांच पीड़ितों की हालत गंभीर होने पर उन्हें ट्रामा सेंटर लखनऊ रेफर किया गया है। विभिन्न बीमारियों से पीड़ित 21 और बच्चों को चिल्ड्रेन वार्ड में भर्ती कराया गया है। इनमें आठ की हालत गंभीर होने पर उन्हें पीडियाट्रिक आईसीयू वार्ड में शिफ्ट किया गया है।

मुर्तिहा कोतवाली क्षेत्र के ग्राम ककरहा की पायल (5) पुत्री राम मनोहर को तेज बुखार के साथ झटका आने लगा। हालात बिगड़ने पर परिवारीजन स्थानीय चिकित्सक के पास ले गए। दो दिनों तक इलाज के बाद हालत में सुधार न होने पर उसे जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया। सैंपल जांच में एईएस की पुष्टि हुई। पायल को पीआईसीयू में वेंटीलेटर पर रखा गया, लेकिन मंगलवार को सुबह उसकी मौत हो गई। सोनम (5), सालिया (2), राधेश्याम (13), आदर्श (7), सुजीत (2), कोयला (5), फूलचंद्र (6), ¨रकी देवी (9) की हालत गंभीर होने पर उन्हें चिल्ड्रेनवार्ड से सघन चिकित्सा कक्ष में शिफ्ट किया गया है। सालिया (2) समेत पांच बच्चों को ट्रामा सेंटर लखनऊ रेफर किया गया। इसके आलावा अशोक (1), तिलक ¨सह (10), अनमोल पाठक (10), मारिया (8), अलाउद्दीन (10), कासिम (3), खुशी (4) समेत 21 और बच्चों को भर्ती कराया गया है।

Posted By: Jagran