बागपत, जेएनएन। कोरोना की तीसरी लहर को लेकर सरकारी महकमे तो अलर्ट हैं, लेकिन जनता की लापरवाही बेकाबू हो गई है। साप्ताहिक कोरोना क‌र्फ्यू का भी जिले में कुछ फायदा नहीं हो रहा है। बाजारों में लोगों की भीड़ अन्य दिनों के तरह उमड़ रही है।

जिले में कोरोना का प्रकोप भले ही कम हो, लेकिन तीसरी लहर का खतरा बरकरार है। आशंका है कि कुछ ही दिनों में वायरस का प्रकोप फिर बढ़ेगा, लेकिन इस बार नौजवान या बुजुर्ग नहीं बल्कि बच्चों के संक्रमित होने का खतरा है। कारण यह है कि अधिकांश बड़ों को कोरोना रोधी टीकाकरण हो चुका है। बड़ों से ही बच्चों को वायरस पहुंचने का आशंका है। लोगों की लापरवाही बच्चों तक वायरस का प्रकोप बढ़ा देगी। जिले के हालत ऐसे है कि लोगों की लापरवाही दिनो दिन बढ़ रही है। जागरूक होने के बजाए लोग लापरवाह बनते जा रहे है। हालत इतने खराब हो गए है कि अब मास्क तक लगाना छोड़ दिया है। सरकार ने शनिवार और रविवार का साप्ताहिक कोरोना क‌र्फ्यू निर्धारित किया हुआ है, लेकिन इस क‌र्फ्यू का कोई फायदा नहीं हो रहा है। बाजारों में भीड़ कम नहीं है और दुकानें भी बादस्तूर खुल रही हैं। पुलिस ने एक दिन कार्रवाई करके खानापूर्ति की, उसके बाद फिर लोगों को उनके हाल पर छोड़ दिया गया है। अगर प्रशासन ने सख्त कार्रवाई नहीं की तो जिले में फिर से हालत बेकाबू हो जाएंगे। डिप्टी सीएमओ डा. यशवीर सिंह ने बताया कि कोरोना से खुद का बचाव करना हर व्यक्ति की जिम्मेदारी है। तीसरी लहर की आशंका बढ़ रही है, इसलिए सावधानियां बरते। इसके लिए बस मास्क लगाना है और दो गज की दूरी का पालन करना है।

Edited By: Jagran