बागपत, जेएनएन। हिदू जागरण मंच ने कारगिल की शहीदों को याद करते हुए उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की और देश को अखंड बनाए रखने का संकल्प लिया।

सोमवार को मंच के युवा जिलाध्यक्ष नितिन जैन के नेतृत्व में सभी कार्यकर्ता शहीद पार्क पर इकट्ठा हुए व देशभक्ति के नारों के साथ शहीदों को याद किया। शहीद पार्क पर लगी सैनिक की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर नमन किया। जिला महामंत्री जयकुमार कंडेरा ने कहा कि कारगिल विजय दिवस युद्ध में शहीद हुए भारतीय जवानों के सम्मान हेतु यह दिवस मनाया जाता है। युवा जिलाध्यक्ष नितिन जैन ने कहा कि कारगिल विजय दिवस हर साल 26 जुलाई को मनाया जाता है। इस दिन भारत और पाकिस्तान की सेनाओं के बीच वर्ष 1999 में कारगिल युद्ध हुआ था जो लगभग 60 दिनों तक चला और 26 जुलाई के दिन उसका अंत हुआ और इसमें भारत विजयी हुआ। इस युद्ध के दौरान 550 भारतीय सैनिकों ने अपने जीवन का बलिदान दिया और 1400 के करीब घायल हुए थे। इस मौके पर सुनील फौजी, राहुल शर्मा, अमन शर्मा, पवन खोखर, सुनील मान, आदित्य ठाकुर, रोहन ठाकुर, अक्षय, छोटी, अंकुर आदि मौजूद रहे। कारगिल शहीदों को याद कर श्रद्धा सुमन अर्पति किए

कारगिल विजय दिवस के पर सोमवार को कारगिल शहीदों को पुष्पांजलि अर्पित कर श्रद्धांजलि दी गई। बिनौली में शहीद पदम सिंह धामा की शहादत को याद करते हुये ग्रामीणों ने उनके चित्र पर पुष्पांजलि अर्पित की। समाजसेवी उपेंद्र धामा ने कहा कि सैनिकों ने कारगिल युद्ध में अदम्य साहस का परिचय देकर देश की सुरक्षा की थी। कारगिल शहीदों के योगदान को भुलाया नहीं जा सकता। इस दौरान उपेंद्र प्रधान, जयपाल सिंह ,श्याम सिंह, शोराज सिंह धामा, भोपाल सिंह, उदयवीर सिंह, मंगल सेन, अनिल धामा, अंकित धामा, देवेंद्र चौहान, बिल्लू, अशोक धामा, विनीत धामा आदि रहे। उधर, जिवाना गुलियान में शहीद जितेंद्र सौलंकी व सिरसली गांव के शहीद हवलदार यशवीर सिंह को भी ग्रामीणों ने श्रद्धा सुमन अर्पित किए। राजू तोमर सिरसली, उदय सिंह, गिरवर सिंह, कृष्णपाल, कपिल सोलंकी, हरेंद्र सोलंकी, अमित सोलंकी आदि मौजूद रहे।

Edited By: Jagran