संवाद सहयोगी, बड़ौत (बागपत) : बुधवार को अक्षय तृतीया पर सैकड़ों सामूहिक विवाह सम्मेलन आयोजित होंगे। इसके चलते शहर के बाजारों ग्राहकों की खूब भीड़ उमड़ रही है।

अक्षय तृतीय पर गंगा स्नान, दान और स्वर्ण आभूषणों की खरीदारी को ज्यादा शुभ माना जाता है। शहर के ज्वैलरी शोरूम नए रूप-रंग में दिखाई दे रहे हैं। इस बार बाजार में परंपरागत डिजाइन के साथ फेमस डिजाइनों की फ्यूजन ज्वैलरी भी मौजूद है। वहीं मेट्रोपॉलिटन सिटीज में बिकने वाली डिजाइनों की भी भरमार दिख रही है। संतोष ज्वैलर्स के जिनेश कुमार जैन और प्रभात जैन के मुताबिक, इस बार अक्षय तृतीया पर बाजार में परंपरागत ज्वैलरी में नई डिजाइन के साथ-साथ इण्डो वेस्टर्न गहनों की बड़ी रेंज उपलब्ध है। चूड़ी की जगह अब दुल्हनें ब्रेसलेट पहनना ज्यादा पंसद कर रही हैं। सगाई के ¨रग में डायमंड के साथ प्लेटिनम की मांग ज्यादा है। कई लोग सोने के सिक्के खरीदने में ज्यादा उत्साह दिखा रहे हैं। ग्राहकों को सोने के आभूषण की खरीदारी पर 20 से 25 प्रतिशत तक मे¨कग चार्ज में छूट दी जा रही है और सौ ग्राम आभूषण की खरीदारी पर एक सोने का सिक्का दिया जा रहा है। ऐसी मान्यता है कि अक्षय तृतीया के दिन जो भी दान या खरीदारी की जाती है, वह अक्षय रहती है।

यह रखें ध्यान

-पक्के बिल के साथ आभूषण खरीदें।

-वापसी गारंटी लिखवाकर लें।

-हॉलमार्क •ोवर में अधिकतम शुद्धता 22 कैरेट यानी 91.60 प्रतिशत होती है।

-23 कैरेट के धोखे में 18-20 कैरेट के माल से बचें।

-डिस्काउंट के चक्कर में कम गुणवत्ता के माल से बचें।

By Jagran