बागपत, जेएनएन : अपराध व अपराधियों पर नकेल कसने के बजाए अब खाकी शातिरों से पीड़ित का समझौते करने से भी गुरेज नहीं कर रही है। एक ऐसा ही मामला बागपत जनपद में सुनने को मिला। सरूरपुर गांव से बैल-बुग्गी चोरी करने के आरोपितों पर कार्रवाई के बजाए एक दारोगा ने पीड़ित पक्ष से दस हजार में समझौता करने का आफर दे दिया। आफर देने वाले दारोगा का ऑडियो वायरल हो गया है।

सरूरपुर गांव निवासी किसान प्रमोद कुमार ने बताया कि 17 सितंबर की रात मकान के सामने से बैल और बुग्गी चोरी हुई थी। इसकी शिकायत उसने पुलिस से की। जानकारी करने पर पता चला कि गांव के ही दो युवकों ने घटना की है। इसके बाद ग्रामीणों ने एक आरोपित को पकड़कर पुलिस को सौंप दिया था। पुलिस चौकी में पूछताछ में आरोपित ने ग्रामीणों के सामने चोरी का इकबाल कर लिया। पुलिस ने एक-दो दिन में बैल-बुग्गी बरामद करने का आश्वासन देकर पीड़ित को घर भेज दिया था। इसके बाद पुलिस ने न मुकदमा दर्ज किया और न ही आरोपित पर कार्रवाई की। अब उल्टा एक दारोगा पीड़ित को दस हजार रुपये का ऑफर देकर समझौता करने का दबाव बना रहा है। दारोगा के आफर की आवाज को पीड़ित पक्ष के एक व्यक्ति ने मोबाइल में रिकार्ड कर लिया। दारोगा का सोमवार को वायरल ऑडियो 2.05 मिनट का है। पीड़ित ने डीएम व अन्य अफसरों से इसकी शिकायत की है। उधर, चौकी प्रभारी मुकेश कुमार ने आरोपों को निराधार बताया है। कहा कि जिस युवक पर बैल-बुग्गी चोरी का आरोप लगाया है वह नशे का आदी है। जांच के आधार पर कार्रवाई की जाएगी।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप