बागपत: जिले भर में बड़ी संख्या में मुस्लिमों ने रोजा रख जुमा नमाज पढ़ी। मस्जिदों में जुमा नमाज से पहले उलेमा-दीन ने अपनी तकरीर में कहा कि

रमजान माह के बाकी दिन मगफिरत के हैं। लिहाजा मुस्लिम किसी गफलत में न रहे और अल्लाह की इबादत में जुट जाएं। बागपत की जामा मस्जिद में मौलाना

आरिफ अहमद ने कहा कि रमजान में अल्लाह की रहमतें बरसती हैं। लिहाजा एक-एक पल कीमती है। इस कीमती समय को गफलत में बर्बाद न करें। हर पल

अल्लाह की इबादत में लगाएं। गरीबों, बेवाओं और मजलूमों की मदद करें। मौलाना ने कहा कि यह जुमा अलविदा भी हो सकता है और नहीं भी। यदि ईद जुमा के दिन हुई तो फिर यही अलविदा जुमा है। ईद शनिवार के दिन पड़ी तो फिर अगला जुमा अलविदा माना जाएगा। इधर, जुमा नमाज के दौरान बागपत नगर समेत जिले की सभी प्रमुख मस्जिदों के बाहर सुरक्षा व्यवस्था को लेकर पुलिस कर्मी तैनात रहे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस