जेएनएन, बागपत। त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में मतदान के बाद गांव रंछाड़ में निर्बल मतदाताओं पर कहर बरपाने का मामला प्रकाश में आया है। पीड़ितों ने पुलिस अधिकारियों से शिकायत की है।

रंछाड़ गांव निवासी देवेंद्र कुमार पुत्र दिलावर सिंह ने बताया कि उसकी पत्नी शर्मिला प्रधान पद की उम्मीदवार रही हैं। चुनाव में उसके साथ निर्बल वर्ग के मतदाता भी रहे हैं, जिन्हें प्रधान पद के दूसरे उम्मीदवार और उसके दबंग समर्थक मतदान से पहले ही धमका रहे थे। देवेंद्र ने बताया कि सोमवार को मतदान के बाद दूसरे उम्मीदवार ने बदमाशों के साथ मिलकर उसके अनुसूचित जाति के समर्थक रहे अतर सिंह, अशोक, अली हसन, आमिर आदि कई मतदाताओं के घर जाकर उन्हें वोट न देने पर अंजाम भुगतने की धमकी दी। उसके समर्थक व बीडीसी के उम्मीदवार रहे यशवीर की दुकान पर मारपीट कर दी गई। इस दौरान यशवीर के कपड़े फाड़ दिए। पीड़ित ने बताया कि आरोपित उसके घर पहुंचे और उसके चचेरे भाई परविद्र के ऊपर जानलेवा हमला बोल दिया, जिसमें वह गंभीर रूप से घायल हो गया। परविद्र को सीएचसी से जिला अस्पताल रेफर किया है।

उधर, पीड़ित बीडीसी उम्मीदवार रहे यशवीर ने बताया कि आरोपित उस पर गांव छोड़कर जाने का दबाव बना रहे हैं। घटना के बाद पीड़ित और घायल लोग एसपी दफ्तर पर पहुंचे और आरोपितों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की। किसी कारण से एसपी वहां नहीं मिले तो सीओ योगराज सिंह ने पीड़ित लोगों की समस्या सुनने के बाद बिनौली पुलिस को कार्रवाई के निर्देश दिए हैं। उधर, फजलपुर सुंदरनगर गांव में शराब पी रहे युवकों में कहासुनी होने के बाद जमकर मारपीट हो गई, जिसमें एक पक्ष के विजयपाल व सुरेंद्र पुत्रगण सूरजपाल व दूसरे पक्ष से ललित व अमित पुत्रगण बालूराम घायल हो गए। दोनों पक्षों ने थाने पर एक दूसरे पक्ष के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई है।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप