जागरण संवाददाता, बड़ौत (बागपत): जिला सहकारी बैंक की बिनौली रोड शाखा में ऋण लेने पहुंचे दो किसानों ने आरोप लगाया कि शाखा प्रबंधक ने एक-एक लाख रुपये के ऋण देने के लिए उनसे जमीन बंधक रखने का दवाब डाला। ऐसा करने से मना करने पर उन्हें ऋण दिए बिना ही शाखा से लौटा दिया गया।

सहकारी समिति शबगा के चेयरमैन योगेश ¨सह ने बताया कि जिला सहकारी बैंक बड़ौत की बिनौली रोड स्थित शाखा समिति के माध्यम से फसली ऋण देती है। पिछले कुछ दिनों से शाखा प्रबंधक किसानों को ऋण देने में आनाकानी कर रहे हैं। एक लाख रुपये ऋण लेने वाले किसानों के सामने जमीन बंधक रखने की शर्त रखी जा रही है। लिमिट से कम ऋण दिया जा रहा है। मंगलवार को शबगा गांव के बजलौर और सोहनबीर एक-एक लाख रुपये के ऋण लेने गए तो आरोप है कि प्रबंधक की ओर से दोनों पर जमीन बंधक रखने की शर्त रखी गई। इनकार करने पर उन्हें ऋण नहीं दिया गया। यह जानकारी दोनों किसानों ने उन्हें दी, जिसके बाद वह स्वयं शिकायत लेकर तहसील दिवस बड़ौत में पहुंचे और इस संबंध में शिकायती पत्र देकर जांच कराने की मांग की। समिति के चेयरमैन योगेश ¨सह ने बताया कि यदि किसानों को नियम के अनुसार ऋण नहीं दिया गया तो वे बैंक शाखा के खिलाफ धरना शुरू कर देंगे। जिला सहकारी बैंक बड़ौत की शाखा प्रबंधक विशु चौधरी ने बताया कि किसान के लगाए आरोप निराधार हैं। किसान बैंक में आए थे, लेकिन उनका व्यवहार ठीक नहीं था। बैंक किसानों को नियम के अनुसार ही ऋण उपलब्ध करा रहा है।

By Jagran