जागरण न्यूज नेटवर्क बागपत : 23 मई से लापता युवक की हत्या ईंटों से पीटकर की गई थी। हत्यारोपितों की निशानदेही पर युवक का शव रमाला मिल के निकट बंद पड़े भट्ठे पर पड़ी मैली से बरामद किया गया।

पुलिस के अनुसार अशरफाबाद थल गांव निवासी मजदूर शमशाद-27 पुत्र बसीरू को 23 मई की सुबह मोनू पुत्र रणबीर निवासी नांगल थाना दोघट ने फोन कर बुलाया था, लेकिन तब से शमशाद घर नहीं लौटा था। काफी तलाश करने के बाद शमशाद नहीं मिला, तो पिता ने 25 मई को थाने में गुमशुदगी दर्ज कराई थी। पुलिस ने मोबाइल की काल डिटेल के आधार पर मोनू व दोस्त दीपक पुत्र जगदीश निवासी कुरडी थाना छपरौली को हिरासत में लिया। पूछताछ करने पर आरोपितों ने शमशाद की हत्या करने की बात कबूल की। हत्यारोपितों ने परिजनों की मौजूदगी में शमशाद के शव को इशाक निवासी असारा के बंद पड़े ईंट भट्टे पर पड़ी मैली से बरामद कराया।

उधर इंस्पेक्टर महीपाल सिंह का कहना है कि घटना में कई लोग शामिल हैं। मामले की जांच की जा रही है।

आरोपित शातिर

ग्रामीणों के अनुसार, शमशाद के मोनू पर मजदूरी के 15 हजार रुपये बाकी थे। जिसकी शमशाद कई बार मांग कर चुका था। शमशाद के लापता होने से कई दिन पहले दोनों का झगड़ा भी हुआ था। पुलिस के अनुसार 23 मई को मोनू ने शमशाद को दीपक के फोन से अपने पास पैसे देने के बहाने बुलाया और ईंट भट्ठे पर पहले बैठकर शराब पी, उसके बाद ईंटों से पीट-पीटकर शमशाद की हत्या कर दी। शमशाद के शव से बदबू न आए, इसलिए मैली में शव को दबा दिया।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस