बागपत, जेएनएन। दोघट थाना क्षेत्र में अलग-अलग स्थानों पर हुई मारपीट की घटनाओं में समझौता होने के बाद भी एससी-एसटी एक्ट लगा दिया गया। इसके विरोध में रविवार शाम दोघट में सीओ के खिलाफ पंचायत हुई। चेतावनी दी है कि अगर पुलिस ने एक सप्ताह में इन मामलों को खत्म नहीं किया तो महापंचायत होगी। उधर, एसपी ने महिला से अभद्रता करने के आरोप में एक दारोगा को लाइन हाजिर कर दिया।

दोघट कस्बे में राजेंद्र चौधरी के आवास पर क्षेत्रवासियों की एक पंचायत हुई। पंचायत में पिछले दिनों मौजिजाबाद नांगल, कंडेरा और नांगल व आजमपुर मुलसम में दो पक्षों के बीच हुई मारपीट की घटना में दोनों पक्षों में समझौता होने का मुद्दा उठा। पंचायत में बताया गया कि समझौते की कॉपी सीओ बड़ौत को सौंप दी गई थी, लेकिन इसके बाद भी सीओ बड़ौत ने एससी-एसटी एक्ट लगा कर मुकदमा दर्ज करा दिया। पंचायत में निर्णय लिया गया है कि अगर पुलिस ने तीनों मामलो को खत्म नहीं किया तो एक सप्ताह बाद महापंचायत होगी। पंचायत की अध्यक्षता पलटू सिंह संचालन कृष्णपाल ने किया। बिजेंद्र सिंह, देवी सिंह व रामनाथ, राजपाल शास्त्री, प्रमोद कुमार, रणवीर, सहदेव, रूपेंद्र, सुधीर आदि मौजूद रहे। उधर, सीओ रामानंद कुशवाह ने बताया कि तहरीर के आधार पर मुकदमा लिखा गया है। घटना की निष्पक्ष जांच की जा रही है।

महिला को अपशब्द कहने वाला दारोगा लाइन हाजिर

बड़ौत: रमाला थाना क्षेत्र के इब्राहिमपुर माजरा गांव में जमीन के विवाद में महिला को अपशब्द करने वाले दारोगा को एसपी ने लाइन हाजिर कर दिया है। दारोगा नत्थू सिंह गांव में जमीन के विवाद की जांच करने गए थे, लेकिन वहां एक पक्ष के लोगों की दारोगा से झड़प हो गई थी। दारोगा ने एक महिला को अपशब्द कहे थे। किसी ने इसकी वीडियो बना ली थी। इसकी शिकायत पीड़ित पक्ष ने एसपी से की थी। एसपी प्रताप गोपेंद्र ने बताया कि रमाला थाने में तैनात दारोगा नत्थू सिंह को लाइन हाजिर कर दिया है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप