बागपत, जेएनएन। व्यवस्था के नकारापन से दुखी होकर दुष्कर्म पीड़िता के माता-पिता ने ऐसा फैसला लिया, जिसे सुनकर कोई भी सन्न रह सकता है। पीड़ित दंपती ने कहा कि बेटी से दुष्कर्म के तीन और आरोपित गिरफ्तार नहीं हुए तो वह अपनी बेटी आरोपितों को ही सौंप देंगे। खुद भी जहर खाकर जान दे देंगे। एक मां-बाप की पीड़ा इस व्यवस्था पर सवालिया निशान है और सभ्य समाज पर प्रश्न चिह्न है।

ये था मामला

एक सप्ताह पहले छपरौली थानाक्षेत्र के एक गांव में युवती ने पांच युवकों पर दो माह पहले उसके साथ दुष्कर्म करने का आरोप लगाया था। उसके दो अश्लील वीडियो बनाए और एक सप्ताह पहले गांव में ही पांच-पांच सौ रुपये में बेच दिए। जान से मारने की धमकी भी दी गई।

पीड़ित पक्ष ने पांचों के खिलाफ थाने में तहरीर दी थी। पुलिस ने आरोपितों को थाने बुलाकर पूछताछ शुरू कर दी। पीड़ित दंपती ने बताया कि पुलिस ने दो आरोपित गिरफ्तार कर लिए, जिन्हें जेल भेज दिया गया। तीन आरोपितों को क्लीनचिट देकर छोड़ दिया गया।

व्यथित होकर रो पड़े दोनों

पीड़ित दंपती सोमवार को बड़ौत सीओ कार्यालय पहुंचा। दंपती ने रोते हुए कहा कि उनके पास दूसरा रास्ता नहीं बचा है। पुलिस ने तीनों आरोपितों को गिरफ्तार नहीं किया तो वह अपनी बेटी ही आरोपितों को ही सौंप देंगे।

-----

दंपती को कार्रवाई का आश्वासन दिया है। हालांकि पुलिस की अभी तक की जांच में दोनों आरोपितों की भूमिका ही पाई गई है। इस मामले को लेकर गांव में राजनीति हो रही है, लेकिन पुलिस निष्पक्ष कार्रवाई ही करेगी।

-आलोक सिंह, सीओ

Edited By: Jagran