बागपत, जेएनएन। राजकीय आयुर्वेदिक चिकित्सालय में सोमवार को हेल्थ कैंप का आयोजन किया गया। बागपत सीएचसी के डाक्टरों ने उपचार किया और लैब टेक्नीशियन ने रक्त के नमूने लिए।

महिलाओं में एनीमिया से बचाव और बच्चों के सही पोषण के बारे में जानकारियां दी। आंगनबाड़ी और आशा कार्यकर्ताओं ने प्रदर्शनी लगाई, जिसके माध्यम से गर्भवती महिला, कुपोषित बच्चे, किशोरी औरअन्य लोगों को पौष्टिक गुणयुक्त आहार के लिए जागरूक किया। बागपत सीएचसी अधीक्षक डा. विभाष राजपूत के सहयोग से कैंप का आयोजन किया गया, जिसमें डा. मीनाक्षी, डा. बुशरा ने मरीजों की जांच की, लैब टेक्नीशियन सुनील ने खून की जांच की। क्षेत्रीय आयुर्वेदिक एवं यूनानी अधिकारी डा. मोनिका गुप्ता का सहयोग रहा। शिविर लगा 710 पशुओं का किया टीकाकरण

क्षेत्र के खैला, रटौल, लहचौड़ा, गौना, ढिकौली, गढी कलंजरी आदि गांव के पशुओं में मुंहपका व खुरपका रोग फैल रहा है। इस बीमारी से कई दर्जन पशुओं की मौत हो चुकी हैं, जबकि सैकड़ों बीमार हैं। अकेले लहचौड़ा गांव में दो दर्जन से अधिक पशुओं की मौत हो चुकी हैं। स्वास्थ्य विभाग ने इसे गंभीरता से लेते हुए सोमवार को गौना व भागौट गांव मे शिविर लगाया। टीम ने पशुओं को जांचा और 710 पशुओं का टीकाकरण कर दवाइयां वितरित की।

चिकित्सक अधिकारी डा. प्रीति पांडेय ने पशुपालकों को अपने पशुओं की साफ सफाई का विशेष ध्यान रखने की अपील की। बताया कि बारिश के मौसम में पशुओं के पास गंदगी होने से यह बीमारी पनपती है। पशु के बीमार होने पर तुरंत पशु चिकित्सक को दिखाने की सलाह दी। डा. रवीश कसाना, डा. अमित, डा. सहदेव सिंह, सुनील आदि का सहयोग रहा।

Edited By: Jagran