बागपत, जेएनएन। दिल्ली-यमुनोत्री नेशनल हाईवे पर हुए सैकड़ों गड्ढों के कारण राहगीरों की परेशानी दिनोंदिन बढ़ती जा रही है। शनिवार को गड्ढे में फंसकर कार खराब हो गई। इससे करीब घंटा भर एनएच पर जाम की स्थिति बनी रही। इससे राहगीरों को बड़ी परेशानी झेलनी पड़ी। इतना ही नहीं कुछ राहगीर तो दूसरे मार्ग से निकल अपने गंतव्य की तरफ बढ़े। बता दें कि एनएच पर गड्ढे नहीं गड्ढों में सड़क हो गई है। गड्ढों से आए दिन हादसे होते ही रहते हैं। बड़ौत-मेरठ मार्ग की बदहाली से मंडलायुक्त को कराया अवगत

रंछाड़ गांव के समाज सेवी रविद्र हट्टी ने मंडलायुक्त मेरठ से मुलाकात कर उन्हें बड़ौत-मेरठ मार्ग की बदहाली से अवगत कराया और इस मार्ग के निर्माण कराने की मांग की। मंडलायुक्त ने उन्हें जल्द कार्रवाई कराने का आश्वासन दिया। गौरतलब है कि करीब 55 किमी के लंबा यह मार्ग बागपत जनपद की सीमा में जगह-जगह से टूट चुका है। बड़ौत शहर के बाहर तो इस मार्ग पर गहरे-गहरे गड्ढे हो चुके हैं, जिनमें गिरकर आए दिन वाहन चालक दुर्घटनाग्रस्त हो रहे हैं। लोक निर्माण विभाग ने पिछले दिन इस मार्ग की मरम्मत कराने के नाम पर महज खानापूर्ति ही की है। संभलकर चलिए जनाब..सिसाना में टूटा है हाईवे

दिल्ली-सहारनपुर नेशनल हाईवे-709बी पर मौत का गड्ढा बने हैं। चंद रोज एक बालिका की ट्रक की चपेट से मौत हो गई थी।

हाईवे पर जलभराव से बाइक गड्ढे में गिरने से लोग चोटिल होते रहते हैं। गड्ढें में बड़े वाहन फंसने से जाम तक लगता रहता है। इसके बावजूद एनएचएआइ को हाईवे टूटने की परवाह नहीं। एडीएम अमित कुमार सिंह एनएचएआई को हाईवे की मरम्मत को लिख चुके हैं।

Edited By: Jagran