बड़ौत: शेखपुरा गांव की प्रधान द्वारा सीएचसी अधीक्षक बिनौली के खिलाफ दर्ज कराए गए मुकदमे के विरोध में पीएचसी और सीएचसी के चिकित्सक और कर्मचारी उतर गए हैं। उधर, शेखपुरा प्रधान के पक्ष में ग्राम प्रधान संगठन आ गया है। संगठन के जिलाध्यक्ष ने चेतावनी दी है कि यदि आरोपी सीएचसी अधीक्षक की गिरफ्तारी न हुई तो शुक्रवार से प्रधान आंदोलन शुरू कर देंगे।

तीन दिन पहले शेखपुरा के प्रधानपति जनेश्वर बागड़ी पर सीएचसी अधीक्षक बिनौली डा. अतुल बंसल के साथ अभद्र व्यवहार, गाली-गलौच करने और जान से मारने की धमकी देने का आरोप लगा था। अधीक्षक की ओर से दर्ज कराए मुकदमे के आधार पर पुलिस ने आरोपी को अदालत में पेश किया था, जहां से वह जेल चला गया था। उसी दिन शेखपुरा गांव की प्रधान ने भी बिनौली थाने पर सीएचसी अधीक्षक के खिलाफ छेड़छाड़ व जातिसूचक शब्द कहने की रिपोर्ट दर्ज कराई थी।

गुरुवार को बिनौली सीएचसी पर तैनात चिकित्सकों व कर्मचारियों ने प्रधान द्वारा दर्ज कराए मुकदमे को फर्जी व झूठा बताते हुये हाथों पर काली पट्टी बांधकर काम किया और चेतावनी दी कि अधीक्षक के खिलाफ दर्ज मुकदमे को वापस नहीं लिया गया तो जनपद के चिकित्सक व स्वास्थ्यकर्मी प्रांतीय चिकित्सा सेवा संघ के बैनर तले आंदोलन छेड़ने को मजबूर होंगे। इस दौरान डा. अभिनव नेहरा, डा. आकाश, डा. ऐश्वर्या, डा. गुफरान समेत दूसरे कर्मचारी शामिल थे। इसी मामले को लेकर बड़ौत सीएचसी अधीक्षक डा. मुकेश उपाध्याय, डा. आलोक रंजन, डा. राजीव त्यागी, डा. वीपी ¨सह, डा. गौरव दूसरे कर्मचारियों ने भी काली पट्टी बांधकर काम किया। रमाला पीएचसी किशनपुर बराल प्रभारी डा. विवेक सैनी समेत दूसरे कर्मचारियों ने काली पट्टी बांधकर काम किया। टीकरी सीएचसी प्रभारी डा. गौरव चौधरी, चिकित्सक इमराम खान, दोघट पीएचसी प्रभारी डा. अजय शाही, दाहा पीएचसी प्रभारी डा. अवधेश कुमार, आजमपुर मुलसम पीएचसी प्रभारी डा. रवि सिवाच ने काली पट्टी बांधकर काम किया। छपरौली सीएचसी पर पर भी डॉ रोबिन चौधरी समेत दूसरे कर्मचारियों ने भी काली पट्टी बांधकर काम किया।

उधर, राष्ट्रीय पंचायती राज ग्राम प्रधान संगठन के जिलाध्यक्ष रामपाल धामा ने इस मामले की जानकारी लेने के बाद बताया कि शेखपुरा गांव की प्रधान के साथ बिनौली सीएचसी अधीक्षक ने दु‌र्व्यवहार किया है, उसे कतई बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। प्रधान आशा को लेकर खाता खुलवाने गई थी, लेकिन सीएचसी अधीक्षक ने कागजात फाड़ दिए। प्रधान ने अपने पति को बुलाया तो सीएचसी अधीक्षक ने उनके साथ झगड़ा कर दिया और उनके खिलाफ मुकदमा दर्ज करा दिया। आरोपी सीएचसी अधीक्षक की तत्काल गिरफ्तारी न हुई तो शुक्रवार से संगठन के नेतृत्व में जिले भर के प्रधान सड़कों पर उतर जाएंगे और बिनौली ब्लॉक में अनिश्चितकालीन धरना शुरू कर देंगे, जो बिनौली ब्लॉक अध्यक्ष संजय के नेतृत्व में चलेगा।

बागपत: बिनौली सीएचसी प्रभारी के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने के विरोध में चिकित्सकों ने हाथों पर काली पट्टी बांधकर कार्य किया। गुरुवार को सीएमओ कार्यालय में सीएमओ डा. सुषमा चंद्रा, एसीएमओ डा. रामदयाल, जिला अस्पताल, सभी सीएचसी व पीएचसी पर चिकित्सकों ने हाथों पर काली पट्टी बांधकर कार्य किया। प्रांतीय चिकित्सा सेवा संघ के सचिव डा. यशवीर ने बताया कि पुलिस की जांच के बाद ही आगे की रणनीति बनाई जाएगी। मामले की निष्पक्ष जांच करने का आश्वासन प्रशासनिक व पुलिस अधिकारियों ने दिया है।

By Jagran