जागरण संवाददाता, बड़ौत (बागपत) : दिल्ली-सहारनपुर रेलमार्ग पर गुंडागर्दी रुक नहीं रही है। सोमवार को दो दर्जन से ज्यादा युवकों ने गोठरा रेलवे हाल्ट पर एक ट्रेन रोककर उसमें सवार आधा दर्जन से ज्यादा यात्रियों की पिटाई की। पिटाई का शिकार एक रेल कर्मचारी भी हुआ। हमले की तहरीर जीआरपी थाने में दे दी गई है।

घटना गोठरा गांव के पास की है। दोपहर के समय पैसेंजर ट्रेन दिल्ली से सहारनपुर के लिए चली थी। लोनी से चलते ही ट्रेन में सीट पर बैठने को लेकर विवाद हो गया था। लूंब गांव निवासी अरुण कुमार ने बताया कि वह दिल्ली स्थित शकूर बस्ती स्थित स्टोर डिपो में कर्मचारी है। वह भी सोमवार को अपने दोस्त संदीप के साथ ट्रेन में आ रहा था। लोनी के पास एक युवक ने उससे सीट से उठने के लिए कहा। इसी बात पर दोनों में कहासुनी हो गई। उसके बाद उस युवक ने फोन कर गोठरा हाल्ट पर अपने 20 से ज्यादा साथियों को बुला लिया। गोठरा से आरोपित युवक ट्रेन में चढ़ गए और कुछ दूर चलने पर ट्रेन को चेनपुलिंग कर रोक लिया। वे उसे और दोस्त को पीटने लगे। इस दौरान बोगी में भगदड़ मच गई। प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि कई और यात्रियों के साथ भी मारपीट हुई। उसके बाद आरोपित ट्रेन से कूदकर भाग गए। पुलिस ने घायल का मेडिकल कराया। इंस्पेक्टर ने बताया कि घटना का मुकदमा दर्ज कराया जा रहा है।

सहम गए बच्चे और महिलाएं

ट्रेन में जिस वक्त झगड़ा हो रहा था तो उस बोगी में बच्चे और महिलाएं भी बैठी थीं। मारपीट होती देखकर बच्चे और महिलाएं सहम गईं। बच्चे डर के मारे रोने लगे।

आखिर कब रुकेगी गुंडागर्दी?

दिल्ली-सहारनपुर रेलमार्ग पर आए दिन ट्रेन में मारपीट और छेड़छाड़ की घटनाएं हो रही हैं, लेकिन पुलिस ऐसी घटनाओं को रोक नहीं पा रही है। सवाल यह है कि आखिर पुलिस कब इन घटनाओं को रोकेगी?

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप